Home उत्तराखंड अब तक: देश और प्रदेश की कुछ खास खबरें संक्षेप में….

अब तक: देश और प्रदेश की कुछ खास खबरें संक्षेप में….

186
0
देहरादून- 

देश और प्रदेश की कुछ खास खबरेेंं संक्षेप में यहां प्रस्तुत की जा रही हैं-    

नयी दिल्ली-  ‘दुनिया को COVID-19 से मुक्त बनाने के प्रयास में तकनीक बहुत मददगार रही है। मैं कोरोना वायरस को हराने के लिए नए तरीकों पर रिसर्च और इनोवेशन में आगे रहने वालों को सलाम करता हूं। इस ग्रह को और भी स्वस्थ और बेहतर बनाने के लिए हम तकनीक का इस्तेमाल करते रहेंगे।’
– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस पर हमारा राष्ट्र उन सभी को सलाम करता है जो दूसरों के जीवन में सकारात्मक अंतर लाने के लिए टेक्नोलॉजी का लाभ उठा रहे हैं। हमें 1998 में इसी दिन हमारे वैज्ञानिकों की असाधारण उपलब्धि याद है। यह भारत के इतिहास में एक ऐतिहासिक क्षण था।’
 – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
आगरा- आगरा के CMO हटाये गये, RC पाण्डेय नये CMO बनाये , मुकेश वत्स हटाये गए
लखनऊ-CMO के साथ साथ आगरा AD चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण ए के मित्तल भी बदले
डॉक्टर अविनाश कुमार सिंह को नया AD चिकित्सा स्वास्थ एवं परिवार कल्याण बनाया गया ।
नयी दिल्ली-  वर्ष 2000 में 11 मई के ही दिन भारत की आबादी ने एक अरब का आंकड़ा छू लिया था, वहीं आज के ही दिन पोखरण में परमाणु परीक्षण कर भारत ने दुनिया को चौंका दिया था।
J&K में 4G इंटरनेट की मांग पर SC आदेश देगा। याचिका के मुताबिक, डॉक्टरों से संपर्क के लिए कनेक्शन ज़रूरी है। बच्चे वीडियो कांफ्रेंसिंग से पढ़ाई कर सकेंगे।
सरकार ने विरोध में कहा है- वहां सुरक्षा पर खतरा बरकरार। मोबाइल इंटरनेट 2G रखने से भड़काऊ सामग्री के प्रसार पर है नियंत्रण ।
पूर्व पीएम, कांग्रेस नेता डॉ. मनमोहन सिंह को नई मेडिकेशन से फेब्राइल रिएक्शन विकसित करने के बाद निरीक्षण और जांच के लिए कल एम्स में भर्ती कराया गया था। बुखार के अन्य कारणों का पता लगाने के लिए उनकी जांच जारी है। वह स्थिर हैंं और एम्स के कार्डियोथोरेसिक सेंटर में निगरानी में हैं।  – सूत्र
देहरादून-  पश्चिम बंगाल के 600 पर्यटक उत्तराखंड में फंसे हैं. इनको लेकर उत्तराखंड सरकार का कहना है कि वहां की सरकार से बेहतर रिस्पांस नहीं मिल पा रहा है, जिसकी वजह से यहां फंसे लोगों को भेजने में समस्या आ रही है।
पिथौरागढ़- व्यास घाटी में ढुलाई का काम करने वाले और धारचूला क्षेत्र के हजारों पौनी-पोटर्स अब रोजी-रोटी को मोहताज नजर आ रहे हैं। सड़क बनने से प्रभावित परिवार मदद के लिए सरकार की ओर टकटकी लगाये देख रहे हैं।
पिथौरागढ़-  बीती 8 मई को केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इंडो-चाइना बॉर्डर को जोड़ने वाली लाइफलाइन लिपुलेख सड़क का उद्घाटन किया था। इस तरह भारत-चीन सीमा से सटे व्यास घाटी के 7 गांव आजादी के सात दशक बाद लाइफलाइन से तो जुड़ गये, लेकिन ये उनके लिए किसी अभिशाप से कम नहीं है। एक तरफ सीमांत क्षेत्र के प्रहरियों के लिए ये सड़क किसी वरदान से कम नहीं है,  वहीं, इस क्षेत्र के करीब 3000 परिवार ऐसे भी हैं, जिनका दाना-पानी सड़क बनने से पूरी तरह छिन गया है।
नयी दिल्ली- केंद्रीय गृह सचिव ने राज्य के सचिवों को निर्देश दिए हैं कि अगर प्रवासी मजदूर पैदल जाते दिखें तो उन्हें समझाकर पास के शेल्टर में ले जाएं और वहां खाने-पीने का प्रबंध करें। इसके बाद श्रमिक स्पेशल ट्रेन या बस से उन्हें घर पहुंचाया जाएगा।
केंद्रीय गृह सचिव ने राज्यों से कहा है कि चिकित्सा और सफाई से जुड़े कर्मचारियों के आनेजाने के लिए सही रास्ता निकालें और सभी प्राइवेट क्लीनिक खोलने की अनुमति दें। ऐंबुलेंस और स्वास्थ्य कर्मियों को एक राज्य से दूसरे राज्य जाने की भी अनुमति होगी।
रेल सफर के लिए नये नियम : जब करेंगे इनका पालन, तभी बैठ पायेंगे ट्रेन में
1-रेलवे के मुताबिक सभी यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा। बिना मास्क वाले यात्रियों को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। यात्री गमछे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
2-यात्रा से कम से कम एक घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा। इसकी वजह यह है कि यात्रियों की स्क्रीनिंग होगी जिसमें समय लगेगा।
3-जिन यात्रियों में कोरोना के लक्षण नहीं होंगे, उन्हें ही यात्रा की अनुमति मिलेगी। इसलिए बेहतर है कि अगर आपको हल्का बुखार है तो ट्रेन का टिकट बुक न कराएं।
4-सभी यात्रियों के लिए मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना अनिवार्य होगा। यह ऐप आपको कोरोना के बारे में आगाह करता है। इसके बिना बोर्डिंग नहीं मिलेगी।
5-टिकट बुकिंग में किसी भी तरह की रियायत नहीं मिलेगी। तत्काल, प्रीमियम तत्काल और करेंट बुकिंग नहीं होगी। टिकट काउंटर से बुकिंग नहीं होगी।
6-कन्फर्म टिकट यात्री ही स्पेशल ट्रेनों में कर पाएंगे सफर। सभी ट्रेनें लिमिटेड स्टॉपेज पर ही रुकेंगी। बड़ी बात यह है कि स्टॉपेज पर आप उतर तो सकेंगे ही साथ ही यात्रा भी शुरू कर सकेंगे।
7-अभी केवल एसी कोच के साथ ही चलेंगी सभी स्पेशल ट्रेनें। इन ट्रेनों में जनरल बोगी नहीं होगी।
8-ट्रेन में कंबल और चादर की सुविधा यात्रियों को नहीं मिलेगी। इसलिए घर से ही कंबल या चादर ले जाना समझदारी है।
9-एसी कोच का तापमान भी सामान्य से थोड़ा कम रहेगा, इसलिए सफर में ठंड लग सकती है।
10-सफर के रास्ते में खाने-पीने का कोई सामान नहीं मिलेगा। इसलिए घर से ही अपने खाने-पीने का इंतजाम करके चलें।
J&K में 4G इंटरनेट बहाल करने का मसला SC ने सरकार पर छोड़ा। कहा- लोगों के अधिकारों और राष्ट्रीय सुरक्षा में संतुलन ज़रूरी है। केंद्रीय गृह सचिव की अध्यक्षता में कमिटी बने, इसमें J&K के मुख्य सचिव भी हों। यही कमिटी याचिकाकर्ताओं की बात पर फैसला ले।
SC में रिपब्लिक टीवी संपादक अर्नब गोस्वामी की याचिका पर सुनवाई शुरू। उनके लिए वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे पेश हुए। अर्नब ने अपने खिलाफ रज़ा सोसाइटी की FIR निरस्त करने की मांग की है।
आज महाराष्ट्र सरकार की अर्ज़ी पर भी सुनवाई है। इसमें गोस्वामी पर पुलिस को डराने का आरोप लगाया गया है।
साल्वे – हैरानी है कि पुलिस मुझसे जानना चाहती थी कि मैंने एक नेता की मानहानि क्यों की? 12 घंटे जिन 2 अधिकारियों ने सवाल किए, उनमें एक कोरोना+ है। क्या वीडियो कांफ्रेंसिंग से पूछताछ नहीं कर सकते थे ?
SC- यह आप HC के सामने रख सकते हैं। वहां अग्रिम बेल या FIR निरस्त की मांग करें।
साल्वे- कार्यक्रम में सांप्रदायिक बात नहीं कही गई। उससे कोई दंगा नहीं हुआ। पालघर में पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाए गए। अब पुलिस ही अर्नब की जांच कर रही है। जांच CBI को दे दी जाए।
महाराष्ट्र के वकील सिब्बल- जांच अपने हाथ में लेना चाहते हैं।
SG तुषार मेहता ने इसका कड़ा विरोध किया।
साल्वे- CBI की बात पर सिब्बल का एतराज़ दिखाता है कि समस्या राजनीतिक है। केंद्र और राज्य के झगड़े में एक पत्रकार को निशाना बनाया जा रहा है। अर्नब से पुलिस ने चैनल के मालिक, सर्वर, खबरों की चयन प्रक्रिया जैसी बातें पूछीं। अभिव्यक्ति की आज़ादी को ऐसे निशाना बनाने का दूरगामी असर होगा।
SG तुषार मेहता- जिस तरह पुलिस ने काम किया वह अवांछित था। याचिकाकर्ता कह रहे हैं उन्हें पुलिस पर भरोसा नहीं। पुलिस कह रही है याचिकाकर्ता दबाव बना रहे हैं। खींचतान में जांच बेनतीजा रही तो लोगों को गलत संदेश जाएगा। अगर प्रथमदृष्टया मामला बनता है तो जांच निष्पक्ष एजेंसी को सौंपी जाए।
भोपाल- म.प्र. के पूर्व सीएम कमलनाथ ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर बीड़ी कारखाने बंद होने की वजह से कच्चा माल संग्रहण करने वालों की आजीविका पर चिंता व्यक्त की है। साथ ही बीड़ी उत्पादन कारखानों को जरूरी अनुमति देने और कच्ची सामग्री के प्रबंध करने के निर्देश जारी करने का अनुरोध भी किया है।
गुवाहाटी-असम में अफ्रीकी स्वाइन फ्लू से 13,000 से ज्यादा सूअरों की मौत हो गई। पशुपालन और पशु चिकित्सा मंत्री अतुल बोरा काजीरंगा नेशनल पार्क का दौरा किया और वहां की स्थिति की समीक्षा की ।
देहरादून- उधमसिंहनगर के बाजपुर में एक और कोरोना पॉजिटिव मिलने की पुष्टि हुई है। बताया जा रहा है कि संक्रमित व्यक्ति ट्रक चालक है, जो पंजाब से माल से लादकर बाजपुर स्थित एक फैक्ट्री पहुंचा था। ऐसे में प्रदेश में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 69 हो गई है।