Home अपराध साइबर क्राइम: अलग-अलग मामलों में 1 लाख 80 हजार ठगे

साइबर क्राइम: अलग-अलग मामलों में 1 लाख 80 हजार ठगे

210
0

संवाददाता
देहरादून, 29 दिसंबर।

स्पेशल टास्क फोर्स ने अंतर्गत कार्यरत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून में रायपुर देहरादून निवासी एक व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी कि एक व्यक्ति ने उसके एकाउंट में किसी अन्य के लिए 20 हजार रुपये जमा करने की बात कहकर उसका फ़ोन नंबर, एटीएम नंबर और गूगल पे का पासवर्ड मांगा।उसके बाद 20-20 हजार रुपये तीन बार व 15-15 हजार रुपये दो बार व 10 हजार रुपये एक बार यूपीआई कोड डालकर क्लिक करने को कहा कि जिस पर मेरे द्वारा क्लिक करते ही मेरे खाते से 1 लाख रूपये निकल गये। जब मैने उस व्यक्ति पैसे निकाले जाने के बारे में कहा तो उसने कहा कि पैसे वापस आ जाएंगे। लेकिन अब तक मेरे पैसे वापस नहीं आए।
वहीं बल्लीवाला, देहरादून निवासी एक महिला ने शिकासयत दर्ज कराई कि गूगल से आईडीबीआई बैंक के कस्टमर केयर नम्बर ढूंढकर अपनी शिकायत दर्ज कराने हेतु बात की गयी तो उन्होंने एटीएम नम्बर एवं ओटीपी पूछकर मेरे बैंक एकाउंट से दो बार में कुल 34,304 रूपये निकाल कर धोखाधड़ी की गयी। साईबर थाने से उप निरीक्षक प्रतिभा के द्वारा शिकायतकर्ता से उपलब्ध विवरण के आधार पर जानकारी प्राप्त करते हुये तत्काल तत्काल सम्बन्धित नोडल पेटीएम को मेल प्रेषित की गयी। वॉलेट को ब्लॉक करने, धनराशि रिफण्ड करने एवं वॉलेट के प्रयोगकर्ता का विवरण उपलब्ध कराने हेतु मेल प्रेषित की गयी। पेटीएम द्वारा संदिग्ध के पेटीएम वॉलेट को ब्लॉक कर अवगत कराया गया कि धनराशि संदिग्ध द्वारा प्रयोग किया जा चुका है।
इसके अलावा फेसबुक पर महिला बनकर दोस्ती का प्रस्ताव भेजकर धोखाधड़ी का मामला जीएमएस रोड निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया गया। बताया कि अज्ञात महिला से उनकी दोस्ती हुई थी। तथा कुछ समय पश्चात उन दोनो की व्हाट्सएप पर बातचीत होने लगी। बातचीत के दौरान महिला द्वारा व्हाट्सएप पर अश्लील वीडियो दिखा कर झांसे में लेकर उसकी भी अश्लील विडियो बना दी और वीडियो डिलीट करने की एवज में उससे 31 हजार ले लिए। विडियो को सोशल मीडिया में डालने की धमकी देकर और अधिक रूपये मांगे जा रहे हैं। उक्त व्यक्ति की शिकायत पर थाना साईबर क्राईम केस दर्ज कर लिया।
उधर उत्तरकाशी निवासी व्यक्ति द्वारा ओएलएक्स पर ऑनलाईन गाड़ियो की सेल का विज्ञापन देखकर स्कूटी खरीदने के बदले में अज्ञात लोगों ने 17000 रूपये की धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया। उत्तरकाशी पुलिस द्वारा थाना साईबर क्राईम से अभियोग के विभिन्न पहलुओं पर तकनीकी सहयोग प्रदान किये जाने की अपेक्षा की गयी थी। थाना साईबर क्राईम से उ0नि0 प्रतिभा द्वारा अभियोग के विभिन्न पहलुओं पर तकनीकी सहयोग प्रदान कर अभियोग में आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु स्थानीय थाना पुलिस को महत्वपूर्ण जानकारी दी गयी ।

साइबर क्राइम से बचने के लिए इन बातों का रखें ध्यानः

1– कभी भी अपनी व्यक्तिगत या बैंकिग डिटेल्स फोन व वाट्सअप कॉल पर किसी से भी साझा न करें। कोई भी बैंक या वॉलेट आपको फोन कर आपकी बैंकिग डिटेल नही मांगता है।

2– गूगल या अन्य किसी सर्च इंजन पर किसी कम्पनी/ बैंक का कस्टमर केयर नम्बर न ढूंढें। कस्टमर केयर का नम्बर सम्बन्धित कम्पनी/ बैंक की अधिकारिक वैबसाईट से ही लें।