Home देश बिकरू कांडः गैंगस्टर विकास दुबे से थी पूरी सैटिंग, डीआईजी अनंत देव...

बिकरू कांडः गैंगस्टर विकास दुबे से थी पूरी सैटिंग, डीआईजी अनंत देव तिवारी सस्पेंड

194
0

संवाददाता
लखनऊ,13 नवंबर। कानपुर के बहुचर्चित बिकरु कांड पर योगी सरकार ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। योगी सरकार ने डीआईजी अनंत देव तिवारी को सस्पेंड कर दिया। एसआईटी जांच के बाद मुख्यमंत्री यह कार्रवाई की है।
बिकरू कांड के समय कानपुर के एसएसपी रहे एवं वर्तमान में झांसी के एसएसपी दिनेश पी को भी नोटिस दिया जाएगा। आइपीएस अनंत देव तिवारी पर आठ जाबांज पुलिसकर्मियों के हत्यारोपी विकास दुबे और उसके गुर्गों से सेटिंग का आरोप बताया जा रहा है कि इस मामले में अभी कई एएसपी और सीओ पर भी कार्रवाई हो सकती है। गैंगस्टर विकास दुबे के आपराधिक बाहुबल में कानपुर के एसएसपी रह चुके अनंत देव तिवारी की संदिग्ध भूमिका पर पहले ही जांच बैठाई जा चुकी है। इससे पूर्व उन्हें एसटीएफ से पीएसी में भेज दिया गया था।
उल्लेखनीय है कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को गिरफ्तार करने गयी पुलिस टीम पर हमला हो गया था, जिसमें एक सीओ सहित आठ पुलिस कर्मियों की जान चली गयी थी। करीब 7 महीने पहले अनंत देव तिवारी का एसटीएफ में डीआईजी पद पर प्रमोशन हुआ था।
गौरतलब है कि बिल्लौर के शहीद सीओ देवेंद्र मिश्र ने संदिग्ध दारोगा विनय तिवारी की शिकायत तात्कालिक एसएसपी अनंत देव तिवारी से की थी। अनंत देव तिवारी ने उस पर कोई एक्शन नहीं लिया था। रिकॉर्डिंग सामने आने के बाद 12 नवंबर को तत्कालीन एसएसपी अनंत देव तिवारी की भूमिका की जांच के आदेश दिए गए थे। एस आई टी जांच में खुलासा हुआ है कि तिवारी का दुुबे को पूरा संरक्षण मिला हुआ था। जांच में दुबे के कुछ अन्य सजातिय पुलिस अधिकारियों की भूमिका भी संंदिग्ध पाई गई है।  सीएम योगी इस मामले में संलिप्त  किसी भी पुलिस अधिकारी  को बख्शने के मूड में नहीं हैं।