Home उत्तराखंड   संयोग: दो दिनों तक खाई में तड़पता रहा स्कूटी सवार, एसडीआरएफ...

  संयोग: दो दिनों तक खाई में तड़पता रहा स्कूटी सवार, एसडीआरएफ ने निकाला सकुशल

145
0

संवाददाता
कोटद्वार, 22 जुलाई। 

गहरी खाई में  गिरने के बावजूद दो दिनों तक मौत से लड़ते रहे उपेंंद्र त्यागी ने अंंततः जिंदगी की जंग जीत ही ली। उसकी इस जीत में साझीदार बनी उत्तराखंड   एसडीआरएफ की टीम। दरअसल, एसडीआरएफ के टीम प्रभारी उप निरीक्षक सौकार सिंह को थाना कोटद्वार से सूचना मिली कि दुगड्डा के पास एक वाहन दुर्घटना स्त हो गया है ।  सूचना मिलते ही एसडीआरएफ टीम त्वरित रेस्कयू हेतु घटनास्थल के लिए तुरंत रवाना हुई। घटनास्थल पर पहुंच कर टीम नेे देखा  कि सड़क किनारे एक स्कूटी खड़ी है और स्कूटी सवार नीचे खाई में गिर गया है ।

टीम के जवानों ने 80 मीटर गहरी खाई में उतर कर कड़ी मशकत के बाद घायल स्कूटी सवार को स्ट्रेचर की मदद से ऊपर लाने में सफलता पाई। स्कूटी सवार ने बताया कि  वह 20 जुलाई को दोपहर में स्कूटी सड़क किनारे खड़ी कर लघु शंका हेतु गया था। उसी दौरान उसका पैर फिसल गया और वो सड़क से नीचे खाई में गिर गया। उसने  लगातार ज़ोर ज़ोर से आवाज़ लगाई परंतु किसी ने उसकी अवाज़ नहीं  सुनी। सर और पैर पर अधिक चोट लगने के कारण वह स्वयं भी बाहर न निकल नहीं पाया। लगभग दो दिनों तक भूखे प्यासे बारिश में वह गुहार लगता रहा परंतु  उसे कोई मदद नहीं मिल पाई। वह काफी हताश  हो चुका था। जीवन की कोई आस नज़र नहीं आ रही थी कि उत्तराखंड SDRF की टीम संकटमोचक बन कर आ पहुंची। टीम नेे उसे सकुशल रेस्क्यू करने के बाद उचित प्राथमिक उपचार भी दिया।  प्राथमिक उपचार के बाद  घायल को 108 के माध्यम से अस्पताल भिजवाया गया। स्कूटी सवार ने अपना नाम उपेंद्र त्यागी (उम्र 29), पुत्र जितेंद्र त्यागी, गाज़ियाबाद बताया है। उसने बताया कि वह कोटद्वार किसी निजी कार्य से आया था। इस बीच वह हादसे का शिकार हो गया। SDRF टीम में उपनिरीक्षक सौकार सिंह, आरक्षी मनीष रौतेला, विनीत देवरानी,लक्ष्मण रावत,अनिल चौहान , आशीष रावत, पैरामेडिक अमृत रावत व उपनल चालक देवेंद्र सिंह शामिल रहे।