Home उत्तराखंड तेजस्वनी बिजनेस एसोसिएशन की वुमेन मीट में महिलाओं ने खेली फूलों की...

तेजस्वनी बिजनेस एसोसिएशन की वुमेन मीट में महिलाओं ने खेली फूलों की होली

190
0

एसोसिएशन की टीम की हुई घोषणा, कार्यों पर चर्चा

देहरादून, 19 मार्च।

तेजस्वनी बिजनेस एसोसिएशन के प्रथम एनुअल फंक्शन एवं वुमेन मीट में संगठन की कार्यकारिणी की घोषणा की गई जिसके बाद महिलाओं ने जम कर फूलों की होली का आनंद उठाया। कार्यकारिणी के अनुसार एडवोकेट त्रिशला मलिक को देहरादून की चैप्टर हैड घोषित किया गया। वहीं उत्तराखण्ड से विभिन्न संस्थाओं से दस महिलाओं को संरक्षक मंडल में रखा गया है।
तेजस्वनी बिजनेस एसोसिएशन के एनुअल फंक्शन की शुरूतात इस मंच के बनने की प्रक्रिया से हुई इस बारे में फाउंडर प्रिया गुलाटी में बताया कि तेजस्विनी बिजनेस एसोसिएशन, यह नाम न जाने कितनी बार बदला, इस नाम ने न जाने कितने रूप लिए, तेजस्वनी सम्मान, तेजस्वनी सक्सेस स्टोरी, तेजस्वनी बिजनेस ग्रुप और अब फाइनली तेजस्वनी बिजनेस एसोसिएशन। परंतु इन सब से पीछे मकसद हमेशा से एक— महिलाएं और उनसे जुड़े कामों को समाज के समक्ष रखना और उनको इनता खास महसूस कराना कि वे किसी से कम नहीं। तेजस्वनी जैसा कि नाम में ही सब छिपा है हर महिला उतनी ही खास है।
शुरूआत हो हुई थी एक छोटे से सम्मान समरोह से जहां 22 महिलओं को साथ लेकर ये सफर शुरू किया गया और फिर अगले साल यह कारवां बढ़ता हुआ 80 पर पहुंचा और आज गिनती करना मुश्किल है और यह कहना भी कि तेजस्वनी की लोकप्रियता न केवल उत्तराखण्ड बल्कि पूरे भारत वर्ष में और विदेशों में भी बढ़ रही है। बहुत ही कम वक्त में तेजस्वनी ने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। अभी यह सफर आरम्भ हुआ है और इसी को आगे बढ़ाने के लिए हम यहां पर सब एक साथ बैठे है। इस मंच का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को उनके उत्पादों के लिए मार्केट प्रदान करना है। प्रिया ने कहा कि सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ लेते हुए महिला उद्यम तो लगा लेती है या स्वयं से काम तो आरम्भ कर लेती है परंतु उनके पास मार्केट न होने की वजह से वे उस काम को ज्यादा दिन चला नहीं पाती है। तेजस्वनी वही प्लैटफार्म महिलाओं को देगा जहां उन्हें मार्केट न खोजना पड़े।
इस मौके पर तेजस्विनी के माॅडयूल की घोषणा करते हुए उन्होंने बताया कि इसमें उत्तराखण्ड के हर जिले में चैप्टर (इकाई) बनाए जाऐंगे जिसमें एक चैप्टर हैड होगा उसके नीचे फिलहाल दस कमेटी बनाई जा रही है उन कमेटी के हैड करने के लिए कमेटी हैड होंगे जो उनको चलाऐंगे। वहीं दस महिलाओं को विभिन्न क्षेत्रों से संरक्षक मंडल में रखा गया है जिनमें समाज सेवी रूपा शर्मा, महिला उद्यमी राशि सिंघल, चाइल्ड साइकोलाॅजिस्ट डा सोना कौशल, फलोरेंस नाइटेंगेल अवार्डी लक्ष्मी पुनेठा, समाज सेवी रमा गोयल, आनंद वन से अपनी पहचान बनाने वाली साधना शर्मा, समाज सेवी शिवानी कौशिक गुप्ता एवं महिला उद्यमि एवं कांग्रेस नेता शिल्पी अरोड़ा शामिल है। चैप्टर हैड के रूप में एडवोकेट त्रिशला मलिक को यह जिम्मेदारी दी गई है। त्रिशला महिला एक अंतर्राष्ट्रीय शूटर है एवं सुप्रीम कोर्ट में वकील होने के साथ साथ विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी हुई है।
कार्यक्रम के दौरान अर्चना सिंधल एंड ग्रुप की ओर से फूलों की होली का अयोजन किया गया जिसमें सभी महिलाओं से फूलों से होली खेल एक दूसरे को रंग का टीका भी किया। कार्यक्रम का संचालन परवेज गाजी ने किया एवं अक्षय शाह ने सभी टेक्निकल पार्ट संभाला।