Home अपराध तस्करी: वन्य जीव अंगों के साथ एक तस्कर चढ़ा पुलिस के हत्थे,...

तस्करी: वन्य जीव अंगों के साथ एक तस्कर चढ़ा पुलिस के हत्थे, एक फरार

179
0

संवाददाता

उधमसिंह नगर, 02 मार्च।

उत्तराखण्ड एसटीएफ लगातार लगातार बड़े खुलासे कर रही है। एक बार फिर बड़ी कार्रवाई करते हुए एसटीएफ ने सेरा घाट क्षेत्र से एक वन्य जीव तस्कर को वन्य जीवों के अंगों के साथ गिरफ्तार किया है। कार्रवाई के दौरान एक तस्कर फरार होने में सफल हो गया।

वन्य जीव तस्करों के सेरा घाट क्षेत्र में सक्रिय होने की सूचना मिलने पर एसटीएफ की कुमायूं यूनिट के निरीक्षक एमपी. सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। उक्त सूचना पर स्पेशल टास्क फोर्स द्वारा सेराघाट क्षेत्र में एक आरोपी राहुल सिंह डसीला पुत्र स्व़ प्रताप सिंह डसीला निवासी ग्राम सेरा उर्फ बडोली थाना बेरीनाग, जिला पिथौरागढ़ (20) वर्ष के एक वन्य जीव जंतु अंगों के अंतर्राष्ट्रीय तस्कर को 06 अदद लैपर्ड की खाल नाजायज व गुलदार के 43 नाखून व 24 दांत व एक वाहन के साथ गिरफ्तार किया गया। जबकि उसका साथी सोनू डोभाल पुत्र स्व़ कैलाश सिंह डोभाल, निवासी शेरा बडोली सेराघाट, जिला पिथौरागढ़ (25) जंगल में अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। लेपर्ड वाइल्डलाइफ एक्ट में शेड्यूल 1 श्रेणी में आता है। आरोपी के विरुद्ध थाना बेरीनाग में वन्य जीव जन्तू संरक्षण अधिनियम की सम्बन्धित धाराओं का अभियोग पंजीकृत किया गया।

गिरफ्तार आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह यह लैपर्ड की खाल सेराघाट के जंगलों में करंट लगाकर मारते हैं तथा फिर ऊंची कीमतों में नेपाल के वन्यजीव तस्करों को बेचते हैं। इससे पूर्व भी 2019 में गिरफ्तार आरोपी व उसका फरार साथी नेपाल में एक खाल बेच चुके हैं। यह खाल करीब एक से दो वर्ष पुरानी है । बरामद 6 खालों की अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब पचास लाख रूपया है।

गिरफ्तारी करने वाली टीम

 उप निरीक्षक के.जी.मठपाल

उप निरीक्षक बृजभूषण पुरानी

का. महेन्द्र गिरी

का. किशोर कुमार

का. सुरेन्द्र सिंह कनवाल

का. दुर्गा सिंह पापड़ा

का. गुरवंत सिंह