Home उत्तराखंड मौन उपवासः पुलिस भर्ती में युवाओं को आयु सीमा में मिले छूटः...

मौन उपवासः पुलिस भर्ती में युवाओं को आयु सीमा में मिले छूटः हरीश

157
0

संवाददाता
देहरादून, 7 जनवरी।

पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत आज उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, एलटी व पुलिस की भर्ती प्रक्रिया में युवाओं को आयु सीमा में छूट देने की मांग को लेकर अपने आवास पर एक घंटे के लिए मौन उपवास बैठे।
उपवास खत्म होने के बाद हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा आयोग भर्ती प्रक्रिया आरम्भ करने जा रहा है। इस भर्ती प्रक्रिया में फाइन आर्ट से और एमए चित्रकला से जो छात्र उत्तीर्ण हैं उन्हें पहले पात्र माना जाता था और पहले जितने भी परीक्षाएं हुई, इनको पात्र माना गया है। लेकिन इस समय हो रही भर्ती में इन नौजवानों के साथ अन्याय करते हुए पात्रता से बाहर कर दिया गया, क्योंकि ये बीएड उत्तीर्ण नहीं हैं। रावत ने कहा कि उन्होंने दो बार ऐसे बच्चों की बात उठाई है जो आयुसीमा पूरी कर चुके हैं, मगर एलटी या दूसरी टीईटी की परीक्षा में आयु सीमा रोकने के कारण वो बैठ नहीं पा रहे हैं।
पूर्व सीएम हरीश रावत ने पुलिस में भर्ती में भी आयु सीमा में छूट की मांग की है। उनका कहना है कि भर्ती परीक्षाएं समय पर न होना सरकार की कमी की सजा युवाओं नहीं दी जा सकती। इसमें बच्चों का कोई दोष नहीं है क्योंकि 2016—17 में जो भर्तियां निकली थी, तब से कोई भर्ती नहीं निकली है। यदि उनकी उम्र आज ज्यादा हो गई है तो उसमें उनका दोष नहीं है। जब सरकार ने भर्तियां निकाली ही नहीं और उनको अवसर ही नहीं मिल पाया तो ऐसे में सरकार को इन युवाओं के लिए उम्र की अहर्ता को शिथिल किया जाय।
उन्होंने कहा कि इसे 4—5 साल बढ़ा दिये जाएं और यही बात जो कमजोर वर्ग के छात्र—छात्राएं हैं, उनके लिये भी लागू होती है। मगर सरकार इस तरफ ध्यान नहीं दे रही है। कहा कि वे ऐसे बच्चों के लिये उपवास में बैठे। जिससे इन बच्चों को न्याय मिल सके।