Home उत्तराखंड शहीद रामसिंह राणा की स्मृति राजकीय हाई स्कूल कालीमठ के प्रवेश द्वार...

शहीद रामसिंह राणा की स्मृति राजकीय हाई स्कूल कालीमठ के प्रवेश द्वार का लोकार्पण

67
0

संवाददाता

ऊखीमठ, 29 जनवरी।
13 सितम्बर 1965 को भारत पाकिस्तान युद्ध में शहीद हुए कालीमठ गांव निवासी रामसिंह राणा की स्मृति में उनकी पत्नी अषाढ़ी देवी द्वारा निर्मित राजकीय हाई स्कूल कालीमठ के प्रवेश द्वार का लोकार्पण किया गया।
प्रवेश द्वार के लोकार्पण अवसर पर 6वीं गढ़वाल राइफल्स, 11 मराठा रेजिमेंट, जनप्रतिनिधियों, परिजनों व ग्रामीण मौजूद रहे। प्रवेश द्वार के लोकार्पण अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि जिला पंचायत सदस्य कालीमठ विनोद राणा ने कहा कि शहीदों की शहादत को हमेशा स्मरण किया जाना चाहिए। उन्होंने अमर राम सिंह राणा की कुर्बानी को नमन करते हुए कहा कि जो वीर योद्धा रणभूमि में दुश्मनों से लोहा लेते हुए शहीद होते है वे वीरगति को प्राप्त करते है। उन्होंने अमर शहीद राम सिंह राणा की पत्नी अषाढी देवी के त्याग और तपस्या को नमन करते हुए कहा कि अषाढ़ी देवी जैसी वीरगनाओ के लिए यह माटी हमेशा पूज्यनीय होती है।


6वीं गढ़वाल राइफल्स के नायब सूबेदार जगदीश रावत ने कहा कि अमर शहीद रामसिंह राणा के बलिदान को हमेशा याद रऽा जायेगा क्योकि उन्होंने देश के प्रति अपने प्राणों की आहूति दी है। 11 मराठा रेजिमेंट के सिद्धि पाठक ने कहा कि अमर शहीद राम सिंह राणा सहित देश के सभी अमर शहीदों को समय दृ समय पर स्मरण कर श्रद्धांजलि अर्पित करनी चाहिए! जिला पंचायत सदस्य कालीमठ विनोद राणा ने अमर शहीद राम सिंह राणा की पत्नी अषाढ़र देवी, नायब सुबेदार जगदीश रावत, सिद्धि पाठक को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया तथा अमर शहीद राम सिंह राणा की पत्नी अषाढ़ी देवी ने सभी का आभार व्यत्तफ़ किया।


इस मौके पर प्रधानाचार्य जोत सिंह नेगी, वशीधर गौड़, प्रधान कालीमठ गजपाल राणा, जाल मल्ला त्रिलोक रावत, क्षेत्र पंचायत सदस्य राकेश राणा, प्रदीप राणा, प्रकाश राणा, बलवन्त रावत, अब्बल सिंह राणा, शिव सिंह राणा, केशर सिंह पंवार, कैलाश पंवार, दीवान सिंह राणा सहित 6वीं गढ़वाल राइफल्स, 11 मराठा रेजिमेंट के जवान, जनप्रतिनिधि, परिजन व ग्रामीण मौजूद थे।