Home अपराध शिकंजा: विजीलेंस के ट्रैप में फंसे दो इंजीनियर, एक लाख की घूस...

शिकंजा: विजीलेंस के ट्रैप में फंसे दो इंजीनियर, एक लाख की घूस लेते हुए धरे गए रंगे हाथ 

377
0

संवाददाता
हल्द्वानी, 08 जुलाई। 

उत्तराखंड में विजिलेंस विभाग भ्रष्टाचारियों के खिलाफ  लगातार बड़ी कार्रवाई  कर रहा है। गुरुवार को विजिलेंस विभाग की हल्द्वानी टीम ने  नेशनल हाईवे रानीखेत, अल्मोड़ा के अधिशासी अभियंता (ईई) महिपाल कालाकोटी और सहायक अभियंता (एई) हितेश कांडपाल को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए  रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। विजिलेंस की टीम दोनों से पूछताछ कर रही है। विजिलेंस के निदेशक वी विनय कुमार ने ट्रैप करने वाली टीम को इनाम देने की घोषणा की है।


विजिलेंस के एसपी मुख्यालय धीरेंद्र गुंज्याल ने बताया कि हल्द्वानी टीम ने यह कार्रवाई की है। उन्होंने बताया कि अल्मोड़ा निवासी शिकायत कर्ता ने बार खोलने के लिए एनएच  समेत अन्य विभागों से एनओसी मांगी थी। सभी ने एनओसी जारी कर दी थी। जबकि एनएच के इंजीनियरों ने एनओसी लटका दी। इस पर आरोपियों ने बार संचालक से रिश्वत की मांग की। आज बार संचालक पहले से तय हुए सौदे के अनुसार एनएच के दफ्तर पहुंचा। जहां एक लाख की रिश्वत ईई को सौंपी। ईई ने यह रकम एई को सौंपी। मौके पर विजिलेंस की ट्रैप टीम ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी अधिशासी अभियंता का नाम महिपाल कालाकोटी और सहायक अभियंता का नाम हितेश कांडपाल है। दोनों को गिरफ्तार कर देहरादून विजिलेंस कोर्ट में पेश किया जाएगा। आरोपियों के घर और दफ्तर से विजिलेंस ने जरूरी फाइलें और दस्तावेज जब्त किए हैं। आरोपियों की संपत्ति और बैंक खातों की जानकारी जुटाई जा रही है।