Home उत्तराखंड विरोध: हरदा ने कमर तोड़ मंहगाई के विरुद्ध आटो रिक्शा को रस्सी...

विरोध: हरदा ने कमर तोड़ मंहगाई के विरुद्ध आटो रिक्शा को रस्सी से खीच कंधे पर रखा गैस का सिलेंडर

184
0

संंवाददाता
देहरादून 06 मार्च।
पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने आज ड़ीजल और पेट्रोल के दामों लगातार वृद्धि व कमर तोड़ महंगाई के विरुद्ध अनोखे अंदाज में आटो रिक्शा को रस्सी से बांधकर खींचते हुए प्रर्दशन किया। कांग्रेस मुख्यालय राजपुर रोड से एक आटो रिक्शा में रस्सी बांध गांधी पार्क तक रिक्शे को खींचते हुए हरदा ले गये।

वहीं, गांधी पार्क के बाहर सम्पन्न हुई सभा को कंधे पर गैस का सिलेंडर रखकर सम्बोधित करते हुए कहा कि पिछले तीन माह में जहां गैस सिलेंडर का दाम ढाई सौ रुपये तक बढ़ा है, वहीं पेट्रोल, डीजल के दामों में अभूतपूर्व वृद्धि की गई है तथा खाद्य पदार्थों के दाम भी आसमान को छू रहे हैं। पिछले 6 वर्ष में केन्द्र सरकार ने अकेले पेट्रोलियम पदार्थों से इक्कीस लाख करोड़ रुपया अर्जित किया है। वो धन कहां चला गया किसी को मालूम नहीं है। बढ़ती बेरोजगारी व चौपट होते उद्योग धन्धे से हमारी आर्थिक स्थिति खराब हुई है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वन किया कि जबतक डीजल, पेट्रोल व गैस के दाम कम नहीं हो जाते तब तक हमें चैन से नहीं बैठना है और गांव-गांव तक जनता को जागरूक करने का काम भी हम सबको करना होगा। जनता के ऊपर महंगाई का बोझ डाला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि यह लड़ाई कांग्रेस की लड़ाई नहीं है। यह आम जनता की लड़ाई है क्योंकि उसका जीवन यापन करना ही दूभर हो गया है। हमारी माता बहनों को घर चलाना लगातार कठिन होता जा रहा है। वहीं हमारे बेरोजगार नौजवान दर-दर की ठोकर खा रहे हैं। उन्होंनेे यह भी कहा कि कुछ पूंजीपतियों की तिजोरियों को भरने के लिये केन्द्र सरकार अपनी नीतियों को उनके पक्ष में बना रही है। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रदेश सरकार को भी कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि जनता की समस्याओं की उपेक्षा की जा रही है। पंचायत राज संस्थाओं को कम कर आंका जा रहा है।
हालांकि कार्यक्रम पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने एकांगी रूप से घोषित किया था परन्तु कांग्रेस, महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस और किसान कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने बढ़चढ़ कर भागीदारी की।