Home उत्तराखंड मुस्तैदी: बैरागी क्षेत्र में झुग्गियों में लगी आग, फायरकर्मियों की तत्परता से...

मुस्तैदी: बैरागी क्षेत्र में झुग्गियों में लगी आग, फायरकर्मियों की तत्परता से बची जनहानि

142
0

संवाददाता

हरिद्वार, 24 मार्च।

बैरागी क्षेत्र के निकट कुछ झुग्गियों में आग लगने की सूचना प्राप्त हुई। सूचना प्राप्त होते ही सबसे नजदीकी बैरागी थाने में मौजूद पुलिस बल फायर टेंडर लेकर मौके पर पहुंचा और आग बुझाई। सूचना के प्रसारित होते ही तत्काल एसपी रेलवेज मंजू नाथ टी सी, अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह, एसपी सिटी हरिद्वार और सभी निकटतम सेक्टर पुलिस ऑफिसर और सेक्टर मजिस्ट्रेट भी मौके पर पहुंच गए। आस-पास मौजूद आईटीबीपी, बीएसएफ और अन्य अर्द्धसैनिक बलों जवान भी अपने-अपने के कैम्पों से अग्निशामक उपकरण लेकर आग बुझाने में सहायता करने के लिए पहुंच गए। सभी के सम्मिलित प्रयासों से जल्द ही आग पर काबू पा लिया गया। घटना में कोई भी जनहानि नही हुई। विधान सभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेन्द्र गिरी जी महाराज, एसएसपी कुम्भ जन्मजेय खंडूरी के द्वारा भी मौका मुआयना किया गया।

वहीं हरिद्वार मेला क्षेत्र के बैरागी कैंप के पास झोपड़ियों में आग लगने की सूचना प्राप्त होने के तुरंत बाद उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने घटनास्थल का जायजा लिया।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अग्निकांड में जो भी लोग प्रभावित हुए हैं उनके हानि का भौतिक निरीक्षण कर उचित मुआवजा दिलाया जाए। उपस्थित अधिकारियों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष को अवगत किया गया कि लगभग 40 से अधिक झोपड़ियों में आग लगने से झोपड़ी के अंदर रखा गया सामान जल चुका है परंतु किसी भी प्रकार की हताहत होने की कोई घटना नहीं हुई है। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा जो भी लोग अग्निकांड से प्रभावित हुए हैं उनका उचित नुकसान का मुआयना कर मुआवजा दिलाया जाए।

इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि कुंभ क्षेत्र में इस प्रकार की घटना चिंताजनक है। अग्निकांड की सूचना मिलते ही कुंभ में जुड़े सभी अधिकारियों ने मुस्तैदी से कार्य किया एवं बड़ी घटना को अंजाम होने से बचा दिया गया। अधिकारियों के मुस्तैदी के कारण ही किसी भी प्रकार की जान की हानि नहीं हुई। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि इस प्रकार की घटना से हमको सबक लेना होगा एवं आगे इस प्रकार की घटनाएं ना हो उसके लिए पहले से अधिक मुस्तैदी रखनी होगी।