Home उत्तराखंड मौत प्रकरण: कैदी की मौत के मामले में जेल अधीक्षक पर कार्रवाई...

मौत प्रकरण: कैदी की मौत के मामले में जेल अधीक्षक पर कार्रवाई की मांग

227
0

संवाददाता
हल्द्वानी, 28 मई।  कैदी की मौत के मामले में अधिवक्ता ने जेल अधीक्षक पर कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि न्यायिक जांच के बाद भी जेल अधीक्षक पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। उन्होंने सीएम, राष्ट्रीय अध्यक्ष मानव अधिकार आयोग और महानिदेशक कारागार को पत्र लिखकर फिर से न्यायिक जांच की मांग की है।
सितंबर 2019 में हल्द्वानी उप कारागार में उधम सिंह नगर कुंडा निवासी कैदी अब्दुल करीम की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। मामले में काशीपुर निवासी अधिवक्ता संजीव कुमार आकाश ने सीएम, राष्ट्रीय अध्यक्ष मानव अधिकार आयोग और महानिदेशक कारागार को पत्र लिखकर फिर से न्यायिक जांच की मांग की है। साथ ही मृतक के बेटी (7) को भरण-पोषण और मुआवजे की मांग उठाई है। अधिवक्ता संजीव कुमार आकाश ने पत्र में लिखा है कि मृतक कैदी एनडीपीएस एक्ट के मामले में हल्द्वानी जेल में बंद था जो बीमार अवस्था में था। लेकिन वर्तमान में जेल प्रशासन ने कैदी का समय रहते इलाज नहीं किया, जो जेल नियमावली के खिलाफ था।
अब्दुल करीम की हालत गंभीर होने पर आनन-फानन में जेल प्रशासन ने उसको ऋषिकेश एम्स भेजा। लेकिन रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। उन्होंने कहा कि मृतक कैदी को समय रहते उपचार मिला होता तो उसकी जान बच सकती थी। उस दौरान जेल प्रशासन द्वारा पूरी तरह से कैदी के उपचार में लापरवाही बरती गई। मामले में मृतक के बुजुर्ग पिता अब्दुल हमीद ने डीजीपी, राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग और मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि जिस दौरान उधम सिंह नगर के कुंडा पुलिस उनके बेटे को घर से उठाकर ले गई थी वह काफी बीमार हालत में था और उसका इलाज चल रहा था। लेकिन पुलिस द्वारा उसको साजिश के तहत जेल भेजने की कार्रवाई की गई। अधिवक्ता संजीव कुमार आकाश ने पूरे मामले में फिर से निष्पक्ष जांच और दोषियों को सजा की मांग की है।