Home अपराध लापरवाही: जेल की चौखट से कैदी फरार, पुलिस के पीछा करने पर...

लापरवाही: जेल की चौखट से कैदी फरार, पुलिस के पीछा करने पर कूद गया अलकनंदा में

180
0

संंवाददाता

 चमोली, 20 मार्च।

ज़िले की पुलिस उम्रकैद की सज़ा काट कर रहे एक कैदी के दुस्साहस से फिर मात खा गई। पूर्व में भी एक बार जेल से फरार हो चुका नवीन चंद्र नाम का कैदी कोर्ट से जेल ले जाते समय एक बार फिर पुलिसकर्मियों को चकमा देकर फरार हो गया। पुलिस ने उसका पीछा किया लेकिन उसे पकड़ने में नाकाम रही। उसके बाद  पुलिसकर्मियों ने दावा किया कि कैदी अलकनंदा नदी में कूद गया। खास बात यह है कि नवीन चंद्र इससे पहले भी एक बार जेल से फरार हुआ था। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि एसडीआरएफ की ओर से अलकनंदा नदी में सर्च अभियान चलाया जा रहा है।

पुलिस के मुताबिक, शुक्रवार को जिला कारागार से तीन कैदियों को गोपेश्वर न्यायालय लाया गया था। इनमें नवीन चंद्र, निवासी- ग्राम रांगतोली, चमोली व दीपक  को एक ही हथकड़ी से बांधा गया था। नवीन नाबालिग का अपहरण कर दुष्कर्म के मामले में सजायाफ्ता है। जानकारी के अनुसार, पुलिस वाहन से तीन पुलिसकर्मी उन्हें वापस जेल में दाखिल करने जा रहे थे। इस दौरान बदरीनाथ हाईवे पर जेल के मुख्य द्वार से जेल तक तीनों व्यक्तियों को पुलिस पैदल ही लेकर जा रही थी। जेल परिसर में ही जेल के अंदर दाखिल करने के दौरान गेट के पास नवीन ने झटके से हथकड़ी से हाथ को निकाल लिया और अलकनंदा की ओर दौड़ लगा दी। इस पर दो पुलिसकर्मी भी उसके पीछे भागे, लेकिन उसे पकड़ने में सफलता नहीं मिली। दोनों पुलिसकर्मियों ने बताया कि कैदी अलकनंदा नदी में कूद गया है। पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान के बताया कि नवीन चंद्र का पीछा कर रहे पुलिस कर्मियों ने उसे अलकनंदा में छलांग लगाते देखा है। हालांकि, जेलर प्रमोद पांडे का कहना कि कारागार में दाखिल होने से पहले ही नवीन भागकर पुरसाड़ी गांव के पास के रास्ते से एक किमी तक दौड़ते हुए नदी किनारे पहुंचा। किसकी बात सच है, अभी यह कहना मुश्किल है।

फरार कैदी नवीन चंद्र की उम्र 25 साल है, जिसका बड़ा गंभीर आपराधिक इतिहास है। 8 मार्च 2018 को उसे नाबालिग के अपहरण व दुष्कर्म के मामले में पोक्सो एक्ट में गिरफ्तार किया था। तब पुलिस ने उसे नेपाल से पकड़ा था। नवीन चंद्र को पॉक्सो में नवंबर 2018 में आजीवन कारावास की सजा हुई थी। जेल में रहने के दौरान ही वह एक अन्य कैदी के साथ  एक सितंबर 2020 को जिला कारागार पुरसाड़ी से फरार हो गया था। नवीन को पुलिस ने आठ सितंबर को तब जंगल से गिरफ्तार किया था, जब वह दुष्कर्म पीड़िता के गांव जा रहा था। वहीं नवीन का साथी नेपाल मूल के दीपक  को पुलिस ने तीन सितंबर को धर दबोचा था। तभी से इन दोनों को जेल में विशेष निगरानी मेंं रखा जा रहा था। इस घटना के बाद जिला पुलिस और जेल प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस बड़ी सरगर्मी के साथ फरार नवीन चंद्र की तलाश में जुटी है।