Home उत्तराखंड सुविधा: अब डाकिये घर-घर जाकर बनाएंगे 5 साल तक के बच्चों का...

सुविधा: अब डाकिये घर-घर जाकर बनाएंगे 5 साल तक के बच्चों का आधार कार्ड 

179
0

– प्रशिक्षण देने के बाद अल्मोड़ा और बागेश्वर से होगा काम शुरू 

– जनरल इंश्योरेंस, सुरक्षा के बीमा भी करेंगे 

संवाददाता
अल्मोड़ा, 15 जुलाई।

जल्द ही डाकिये आपके घर पर नजर आएंगे। संचार क्रांति के युग में एक प्रकार से डाकिये गायब हो गए थे। चिट्ठी-पत्रियों का दौर बंद होने के बाद डाकिये घर-गांवों में कम ही नजर आते हैं। लेकिन अब डाकिये घर-घर जाकर लोगों के आधार कार्ड भी बनाएंगे। उत्तराखंड में पहले चरण में पांच साल तक के बच्चों के कार्ड बनाए जाएंगे। इस काम को करने के लिए डाकियों को आईडी मिलेगी। कुछ दिन बाद उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। वयस्कों के आधार कार्डों में मोबाइल नंबर अपडेट और नाम संशोधन का कार्य भी करेंगे। यह काम अल्मोड़ा और बागेश्वर जिले से शुरू होगा। साथ ही इंश्योरेंश सेवाओं में भी भूमिका निभाएंगे। डाकिया जनरल इंश्योरेंस वाहन, सुरक्षा आदि के बीमा भी करेंगे। इससे उपभोक्ताओं को घरों में ही सेवा का लाभ मिल सकेगा। उत्तराखंड में अल्मोड़ा मंडल के डाकघरों में बागेश्वर जिले समेत लगभग 500 डाकिए तैनात हैं। इस योजना के लिए 65 डाकियों को आधार आईडी उपलब्ध करा दी गई हैं। इनमें 25 डाकियों के मोबाइल अपडेट कर दिए हें। अन्य डाकियों को भी आईडी मुहैया कराकर प्रशिक्षण शुरू किया जाएगा। अल्मोड़ा डाक अधीक्षक जगत सिंह बिष्ट ने बताया कि डाकियों के घर-घर जाकर शून्य से पांच साल तक के बच्चों का आधार बनाने और मोबाइल नंबर अपडेट करने का शासनादेश जारी हो गया है। डाकियों को प्रशिक्षण की तैयारी की जा रही है। प्रशिक्षण देने के बाद सेवा शुरू कर दी जाएगी।