Home राजनीति राजनीतिः उत्तराखण्ड में जल्द मिलेगा आम आदमी पार्टी को स्थानीय चेहराः मनीष

राजनीतिः उत्तराखण्ड में जल्द मिलेगा आम आदमी पार्टी को स्थानीय चेहराः मनीष

253
0

त्रिवेंद्र बनाम केजरीवाल मॉडल पर खुली बहस के लिए नहीं आये शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक

संवाददाता
देहरादून, 4 जनवरी।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री खुली बहस के लिए लगभग 45 मिनट तक उत्तराखंड के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक का इंतजार करते रहे लेकिन कौशिक नहीं आए। इस पर सिसोदिया ने कहा कि कैबिनेट मंत्री ने कहा था कि पांच क्या सौ काम गिना देंगे लेकिन उनके न आने से यह साबित होता है कि भाजपा सरकार ने यहां कोई काम किया ही नहीं है जिसकी वजह से कौशिक खुली बहस के लिए नहीं आये।
आज सर्वे चौक स्थित आईआरडीटी ऑडिटोरियम में पहुंचे। जहां उन्होंने उत्तराखण्ड के शहरी विकास मंत्री को त्रिवेंद्र बनाम केजरीवाल माडल पर खुली बहस के लिए निमंत्रण दिया था। इस दौरान दिल्ली के डिप्टी सीएम ने काफी देर तक उत्तराखण्ड के कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का इंतजार किया लेकिन वे नहीं आये। इस दौरान ऑडिटोरियम में कार्यकर्ताओं को दिल्ली स्कूलों के बदली तस्वीर के वीडियो दिखाये गये।
पत्रकारों से वार्ता के दौरान मनीष सिसोदिया ने कहा कि आप नेता मनीष सिसोदिया ने उत्तराखंड की सरकार को आढ़े हाथ लेते हुए कहा कि उत्तराखंड में बीजेपी की सरकार नहीं है बल्कि कांग्रेस और बीजेपी की मिलीजुली सरकार है। ऐसा वे स्वयं नहीं कह रहे हैं बल्कि यहां के लोग खुद ऐसा कह रहे हैं। यहां सीएम तो भाजपा के हैं लेकिन मंत्री कांग्रेस के हैं।
मनीष सिसोदिया ने कहा कि उत्तराखंड में काम नहीं हुए सिर्फ भ्रष्टाचार हुआ। इस बारे में भाजपा के विधायक पूरण फर्त्याल ही काफी कुछ बताते रहते हैं। भाजपा के नेता खुद ही बताते हैं कि डाण् हरक सिंह रावत क्या कर रहे हैं। मुख्यमंत्री के के ओएसडी के बारे में भी काफी कुछ सुनने को मिलता है। बहुत सारी कंपनियां बना रखी हैं। मनी लांड्रिंग कर रखी है। सिसोदिया ने कहा कि कई जगह सुनने को मिलता है जो काम दिल्ली में हुए हैं वे काम उत्तराखंड में क्यों नहीं हो सकते।
एक सवाल के जवाब में सिसोदिया ने कहा कि कौशिक यहां नहीं आये तो संभव है कि वे छह जनवरी को दिल्ली में आ कर चर्चा करना चाहते हों तो वे उनका वहां पर भी इंतजार करेंगे। वे दिल्ली आयेंगे तो उन्हें दिल्ली के स्कूल दिखायेंगे। कहा कि उत्तराखण्ड में संसाधनों की कमी नहीं है लेकिन काम करने के लिए राजनैतिक नीयत नहीं है। वहीं आम आदमी पार्टी को एक स्थानीय चेहरा देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जल्द ही आप को एक चेहरा मिल जायेगा जो स्थानीय ही होगा।