Home उत्तराखंड राजनीति: प्रदेश अध्यक्ष एस एस कलेर समेत दर्जनों आप कार्यकर्ता गिरफ्तार

राजनीति: प्रदेश अध्यक्ष एस एस कलेर समेत दर्जनों आप कार्यकर्ता गिरफ्तार

167
0

आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने किया सीएम आवास कूच

संवाददाता

देहरादून, 10 जुलाई।

आज आम आदमी पार्टी ने बिजली के बढे दामों और प्रदेश में 300 यूनिट बिजली फ्री देने की मांग को लेकर हजारों की संख्या में पहुंचकर सीएम आवास के घेराव के लिए कूच किया। दिलाराम चौक से शुरु हुए आम आदमी पार्टी के इस प्रदर्शन में प्रदेश भर के सैंकड़ों आप पार्टी कार्यकर्ता पहुंचे।  सीएम आवास कूच कर रहे आप कार्यकर्ताओं को  पुलिस ने  बेरीकेडिंग लगाकर हाथीबडकला पर ही रोक दिया। इस दौरान आप कार्यकर्ताओं और पुलिस की काफी देर तक तीखी नोक झोंक हुई जिसको बाद सभी आप कार्यकर्ता वहीं धरने पर बैठ गए।

इस दौरान आप नेताओं ने कहा कि ये सरकार 100 यूनिट बिजली का सिर्फ लॉलीपोप जनता को दे रही है। आखिर इससे पहले ये सरकार अपने कार्यकाल में कहां सोई थी। जब से आप पार्टी ने बिजली के मुद्दों को लेकर लगातार सरकार को घेरा तब इस सरकार की नींद टूटी और अपनी सियासी जमीन खिसकती देखकर आनन फानन में उर्जा मंत्री ने 100 बिजली फ्री देने की घोषणा कर दी जो बिना होमवर्क किए सिर्फ एक जुमला है जनता के लिए झुनझुना है। बिजली मंत्री ने बिना होमवर्क के  घोषणा तो कर दी लेकिन मुख्यमंत्री ने साफ कह दिया कि अभी जब ये मामला कैबिनेट में आएगा तो इस पर विचार किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि ये उर्जा प्रदेश है और अभी अप्रैल माह में इसी बीजेपी सरकार ने बिजली के दामों में बढोतरी की थी लेकिन अब जनता को भ्रमित करने के लिए ये फ्री का शिगुफा छोड़ रहे हैं।

प्रदर्शन के दौरान सैकडों वरिष्ठ आप पदाधिकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, जिन्हें हाथीबडकला से पुलिस की गाड़ियों में भरकर पुलिस लाईन ले जाया गया। इस दौरान आप पदाधिकारियों को गिरफ्तार कर ले जाने पर आप कार्यकर्ता पुलिस की गाड़ियों के आगे सड़कों पर लेट गए और गाड़ियों को जाने नहीं दिया। इसके बाद पुलिस ने बलपूर्वक कार्यकर्ताओं को सड़कों से उठाकर गिरफ्तार कार्यकर्ताओं ,पदाधिकारियों को पुलिस लाइन ले गए जहां बाद में सभी को रिहा कर दिया गया।

आप के प्रदर्शन में प्रदेश अध्यक्ष एस एस कलेर, सह प्रभारी राजीव चौधरी, शिशुपाल रावत, अमित जोशी, रजिया बेग, बसंत कुमार, आप प्रवक्ता मयंक शर्मा, समित टिक्कू, रविन्द्र आनंद, नवीन पिरशाली, उमा सिसोदिया, रविन्द्र जुगरान, योगेन्द्र चौहान, हिमांशु पुंडीर, महक सिंह सैनी, हेमा भंडारी,सुधा पटवाल,आदि सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।