Home Home ठगी के आरोपियों को चार साल की सज़ा सुनाई गयी

ठगी के आरोपियों को चार साल की सज़ा सुनाई गयी

81
0

रुद्रप्रयाग – क्षेत्र के एक व्यापारी से देहरादून में ज़मीन और मकान का सौदा करने के नाम पर 39 लाख रूपये की ठगी करने वाले 3 लोगों को अदालत ने चार साल की सज़ा सुनाई है.इसके साथ ही आरोपियों से साढ़े सात लाख रुपये का जुर्माना वसूल कर वादी को दिए जाने का आदेश भी दिया है.
मयाली में आयरन स्टोर चलाने वाले अनुराग भट्ट ने 5 अगस्त 2017 को पुलिस महानिदेशक को पत्र लिख कर शिकायत की थी कि रुद्रप्रयाग पुलिस उनके द्वारा लिखाई गयी ठगी कि रिपोर्ट पर कार्रवाई नहीं कर रही है. पत्र में बताया गया था कि थाना पौड़ी (गढ़वाल ) के ग्राम पाबू निवासी अनिल जुयाल पुत्र गंगाराम जुयाल ने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर मार्च 2016 में देहरादून में ज़मीन, मकान और बैंक से लोन दिलाने की बात कह कर 45 लाख रूपये में सौदा तय किया था. सौदा तय होने के बाद उसने आरोपियों को अलग अलग तारीखों में 39 लाख रूपये दिए .इनमे से सात लाख रूपये अलग अलग बैंक खातों में जमा कराये गए थे. इसके बावजूद आरोपियों ने सौदे के मुताबिक उन्हें ज़मीन और मकान, कुछ नहीं दिलाया .अपनी रकम वापस मांगने पर आरोपियों ने अपने मोबाईल फोन बंद कर दिए .
इसके बाद रुद्रप्रयाग पुलिस ने मामले की जांच कर आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया और मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सचिन कुमार पाठक की अदालत में मुकदमे की सुनवाई चली. दोनों पक्षों की दलीलें सुनने और अभियोजन पक्ष द्वारा प्रस्तुत साक्ष्यों के आधार पर सभी आरोपियों को दोषी ठहराया और उन्हें चार साल की कठोर सज़ा सुनाई. अदालत ने आरोपियों पर एक एक लाख रुपये का अर्थदंड भी लगाया. अर्थदंड न चुकाने पर एक साल की अतिरिक्त सज़ा सुनाई गयी. अभियोजन पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता सुदर्शन सिंह चौधरी ने पैरवी की. सज़ा पाने वालों में अनिल जुयाल के अलावा हरियाणा के रहने वाले हरीश पुत्र राकेश और अमित पुत्र राकेश शामिल हैं.