Home Home क्या नशे की लंका के रावण मारे जायेंगे इस बार ?

क्या नशे की लंका के रावण मारे जायेंगे इस बार ?

48
0

राजेश सरकार
हल्द्वानी। उत्तराखंड में जैसे दीमकों ने गांव के गांव साफ कर दिए वैसे ही अब बढ़ती नशाखोरी के चलते अधिकांश परिवार नशे की गिरफ्त में फंसने लगे हैं जिसका परिणाम अब बर्बादी के रूप में सामने आने लगा है। बड़ा सवाल ये है कि नशे का इतना बड़ा कारोबार लंबे समय से कौन चला रहा है और किस की शह पर राज्य को बर्बादी की तरफ धकेला जा रहा है । कौन रावण हैं जो देवभूमि को लहूलुहान करने पर तुले हैं। स्थानीय प्रशासन देर से ही सही कमर कस चुका है, लेकिन नशे के खिलाफ लड़ा जाने वाला ये युद्ध अगर राम- रावण के युद्ध सा नहीं हुआ तो युवाओं का गर्त में डूबना निश्चित है ।

This image has an empty alt attribute; its file name is 2-2.jpg


युद्ध के दौरान भगवान राम के वाणों की वर्षा से रावण के कटते सिर, फिर शीश का कंधों पर पुनः उग जाने का क्रम, विभीषण के खुलासे के बाद राम ने जाना रावण की दिव्य शक्ति का रहस्य और तब उन्होंने रावण की नाभि को भेद कर खत्म किया था उसका खेल।
कलयुग में उक्त पक्तियां नशे के उन रावण रूपी सौदागरों पर चरितार्थ होती दिखाई दे रही हैं, जिनकी नाभि में भी उन तथाकथित ताकतों का संरक्षण रूपी अमृत है, जिसकी वजह से नशा कारोबारी अपने आप को ‘सर्व शक्तिमान’ समझ बैठे हैं। जरूरत है ऐसी तथाकथित ताकतों को चिन्हित कर उनकी नाभि भेदने की, इसकी शुरूआत जनपद नैनीताल से होना सुनिश्चित हुआ है।
जनपद नैनीताल के पुलिस कप्तान सुशील मीणा ने अपने नए निर्देशों में कहा है कि जो तस्कर तीन बार शराब, स्मैक व चरस बेचते पकड़ा जाएगा, उसके खिलाफ गुंडा एक्ट और जरूरत पड़ने पर जिला बदर की कार्रवाई होगी।

This image has an empty alt attribute; its file name is 042d10be-c17a-49ca-9959-979abcba38cb-1-1024x576.jpg


बता दें कि तेजतर्रार जिलाधिकारी सविन बंसल के निर्देश के बाद हरकत में आयी आबकारी टीम ने गत दिनों फतेहपुर व लामाचौड़ क्षेत्र में छापेमारी की। इस दौरान टीम ने एक आरोपी को शराब के साथ धर दबोचा। इस बीच 20, 25 लोगों ने आबकारी टीम के साथ धक्का मुक्की कर आरोपी को छुड़ा लिया। ख़ैर पुलिस ने इस मामले में दो लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की।
बताया जाता है कि बीती रात मुखबिरी किये जाने के शक के चलते दबंगों ने क्षेत्र के ही एक दुकानदार के घर के बाहर पूरी रात जमकर तांडव किया। अब क्षेत्र की जनता की निगाह एसएसपी के नए निर्देशों के मद्देनजर संबंधित थाना पुलिस के एक्शन पर ही नहीं टिकी है, बल्कि उसे लग रहा है कि नशा रूपी रावण का इस बार वध होना तय है।