Home देश निष्ठुर: पुलिस अफसर बेटी ने निकाल दिया घर से, सड़कों पर भटक...

निष्ठुर: पुलिस अफसर बेटी ने निकाल दिया घर से, सड़कों पर भटक रही है 80 साल की बूढ़ी मां…  

79
0
 अरुण नेगी की रिपोर्ट
नयी दिल्ली-  इंसानी रिश्तों के बीच में घुसपैठ कर रही मतलबपरस्ती के चलते अब पारिवारिक रिश्तों के अमानवीय और बेरहम चेहरे सामने आने लगे हैं। लाचारी का जीवन जीने वाले बुजुर्गों को  इसका दंश सबसे ज्यादा झेलना पड़ता है।
80 साल की उम्र में ज़्यादातर लोग किसी पर निर्भर हो जाते हैं. शारीरिक और आर्थिक रूप में किसी भी मां-बाप की यह उम्मीद होती है कि उसका बचा हुआ जीवन आराम से बच्चों के साथ कट जाएगा. हर बार यह बात सच साबित नहीं होती क्योंकि राजधानी दिल्ली के पहाड़गंज में एक 80 साल की बूढ़ी मां को अपने घर से निकाले जाने का आरोप लगा है एक बेटी पर. दिल्ली पुलिस में अधिकारी पद पर मौजूद एक बेटी पर आरोप है कि उसने अपनी मां को उन्हीं के घर से बाहर निकाल दिया, जिसकी वजह से वह पिछले 6 महीनों से सड़कों पर रह रहीं हैं. इस महिला की मदद करते हुए महिला आयोग ने उसे लेडी हार्डिंग अस्पताल की इमरजेंसी में भर्ती करवाया. NBT की रिपोर्ट के मुताबिक़, महिला के शरीर पर गंभीर चोट के निशान समेत बाहर ठंड में रहने की वजह से हाइपोथर्मिया भी हो गया है. उनके शरीर पर गहरे ज़ख्म, चोट, फ्रैक्चर और इंजेक्शन के निशान भी मिले.
बता दें कि महिला आयोग को इस मामले की जानकारी एक स्थानीय व्यक्ति ने दी और 80 साल की इस महिला पर अत्याचार का वीडियो भी भेजा. जिसके बाद आयोग तुरंत महिला की मदद के लिए पहुंचा और उनकी देखभाल और पुनर्वास के लिए काम कर रहा है. महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने कहा, दिल्ली पुलिस मामले में एफ़आईआर करें और बेटी के ख़िलाफ़ कार्रवाई करें. वहां पास में रहने वाले लोगों ने कहा भी कि उन्हें उनकी बेटी ने घर से बाहर निकल दिया और वह 6 महीने से सड़क पर रह रही हैं. आयोग के अनुसार, डॉक्टर्स ने कहा कि महिला कुपोषित है और उनके फेफड़ों में भी संक्रमण है. इसके अलावा, आयोग ने बेटी पर मां को पीटे जाने का भी आरोप लगाया है.