Home उत्तराखंड पहल: आखिर मेलाधिकारी दीपक रावत ने खुद गैंती उठाकर क्यों की जमीन...

पहल: आखिर मेलाधिकारी दीपक रावत ने खुद गैंती उठाकर क्यों की जमीन की खुदाई…?  यहां पढ़िए !

75
0
हरिद्वार । क्या आपने कभी किसी आईएएस अधिकारी को फावड़ा या गैंती चलाते हुए देखा ? हरिद्वार के लोगों ने देखा। जी हां,  हरिद्वार महाकुंभ मेला 2021 में पेयजल आपूर्ति हेतु मेलाधिकारी दीपक रावत ने आज खुद गैंती  चला कर पहले आधारशिला के लिए जमीन की खुदाई की और फिर  आई वेल,जल कूप, फाउंडेशन स्टोन की स्थापना  की। 15 अगस्त 2020 तक इस कार्य को समयबद्ध ढंग से पूर्ण करने का लक्ष्य दिया गया है। गौरी शंकर द्वीप में आज विधिवत पूजा पाठ कर इस परियोजना का शिलान्यास किया गया।
195 लाख रुपये की लागत से बनने वाले दो आई वेल जलकूप पेयजल परियोजना से कुम्भ क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति की कमी को दूर करने में मदद मिलेगी।
कुंभ मेला के लिये बनाये गए जलकूप की क्षमता एक घण्टा में 1.5 लाख लीटर है।
इस परियोजना से 30 वर्षो तक कुम्भ क्षेत्र को लाभ मिलता रहेगा।
इस अवसर पर अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह ,अधिशासी अभियंता जल निगम मो मीसम एवम अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
मेला अधिकारी दीपक रावत  ने गौरी शंकर दीप में रहने वाले निर्धन बच्चों को गर्म वस्त्र भेंट किए और अल्पाहार भी कराया।
उक्त सभी बच्चे उद्घाटन कार्यक्रम देखने स्थल पर उपस्थित थे।