Home Home भारी बारिश के चलते पहाड़ी जिलों में जनजीवन अस्त-व्यस्त

भारी बारिश के चलते पहाड़ी जिलों में जनजीवन अस्त-व्यस्त

45
0

देहरादून – पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बारिश से हादसों की खबरें आ रही हैं। उफ़ान पर बह रही नदियों ने विकराल रूप ले लिया है जिससे जनजीवन पर खतरा मंडराने लगा है। यहां प्राप्त सूचना के अनुसार, उत्तरकाशी जिले में दो दिन से हो रही मूसलाधार बारिश के चलते मोरी के आराकोट, डगोली, माकुड़ी गांव में नदी नाले सब उफान पर हैं। बरसाती नाले में भारी उफान आने के बाद कई घरों,व सेब के बगीचों को भारी नुकसान वहीं 7 लोग लापता बताए जा रहे हैं। आराकोट से लगे डगोली गांव में दोनों तरफ नाले उफान पर होने से हो रहे भूधंसाव से कई मकानों को खतरे की आशंका बढ़ गई है। नालों के उफान पर आने से गांव में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। वहीं माकुड़ी गांव में मलबा आने से 7 लोगों के दबे होने की आशंका है। क्षेत्र की पॉवर और टौंस नदी का जलस्तर खतरे के निशान से उपर बह रहा है। स्थानीय प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। त्यूनी हैलीपैड और खेल मैदान भी जलमग्न हो चुका है।
जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान ने SDRF, POLICE, ITBP टीम के साथ ही बड़कोट से रेडक्रॉस की टीम को जरूरी संसाधनों टेंट, कम्बल, बरसाती आदि के साथ मौके के लिए रवाना कर दिया है।
वहीं जिला प्रशासन ने हिमाचल प्रदेश व देहरादून के जिलाधिकारी से भी दूरभाष पर वार्ता कर सहयोग मांगा है।
दूसरी ओर, उत्तरकाशी में भारी बारिश के चलते गंगोत्री एवं यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सहित कई संपंर्क मार्ग भी बंद हो रखे हैं जिससे परेशानी का आलम और बढ गया है। प्रभावित क्षेत्रों में प्राकृतिक आपदा की आशंका को देखते हुए जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क हो गया है। जिलाधिकारी आशीष चौहान स्वयं हालात पर नजर रखे हुए हैं और उन्होंने आपदा प्रबंधन सहित तमाम संबंधित विभागों को किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा है।

दुर्घटना की दूसरी सूचना जनपद पौड़ी के नैनीडांडा विकास खंड के अंतर्गत धुमाकोट-भौन मोटर मार्ग पर एक बस दुर्घटना की आ रही है। बस में ड्राइवर , बस मालिक और एक सवारी बैठी हुई थी। इस दुर्घटना में बस के मालिक की मौके पर ही मृत्यु हो गई जबकि चालक गंभीर रूप से घायल है व एक अन्य सवारी को चोटें आई हैं। घायलों को नैनीडांडा हॉस्पिटल में लाया गया है।