Home Home अब नेत्रहीन भी उठा सकते हैं प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद

अब नेत्रहीन भी उठा सकते हैं प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद

50
0

  वैलिंगटन का ज़ीलैण्डिया एक आकर्षक इको-सैंक्चुरी है, जिसका  भ्रमण नेत्रहीनों को प्रकृति का अनूठा अहसास देता है।
वैलिंगटन के व्यस्त सिटी सेंटर से मात्र 10 मिनट की ड्राइव पर स्थित जीलैण्डिया दुनिया की पहली ऐसी शहरी इकोसैंक्चुरी (अभ्यारण्य) है, जो पूरी तरह फेंसिंग से घिरी है। 225 हेक्टेयर में फैले इस प्राकृतिक पार्क में वन्यजीवन के संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए कई परियोजनाएं शुरू की गई हैं, जिसके चलते देशी वन्यजीवों की 18 प्रजातियों को यहां दोबारा विकसित होने में मदद मिली है। इनमें लिटिल स्पाॅटेड कीवी और ट्वाटरा शामिल हैं।
टेरेस मैकलियाड, जो कि एक प्राकृतिक कथाकार हैं और चलती-फिरती एनसाइक्लोपीडिया हैं। मैकलियाड हमेशा से नेत्रहीनों को बुश के इस दौरे पर ले जाना चाहती थीं। मैकलियाड नेत्रहीन दोस्तों को न्यूजीलैंड  बुश के क्षेत्र में गाईड करती हैं। बुश के क्षेत्र में न्यूज़ीलैण्ड का सबसे दुर्लभ और असाधारण वन्यजीवन पाया जाता है।
नेत्रहीन समुदाय के लिए इस तरह के दौरे में बढ़ती रुचि के साथ मैकलियाड ने न्यूज़ीलैण्ड के कई अन्य गंतव्यों के बारे में जानने की कोशिश की। उन्हें उम्मीद है कि इनके द्वारा नेत्रहीनों को प्रकृति का जीवंत अनुभव दिया जा सकता है।
नेत्रहीन समुदाय  के लोग बुश क्षेत्र में  भ्रमण करके आवाज़, गंध और स्पर्श के ज़रिए प्रकृति से जुड़ते हैं।
यहां  पर  कानों की मदद से ही देखते हैं, सभी लोगों को बताया जाता है कि अंधेरे में सीखने की कोशिश करें। जब आप ध्यान लगाकर सुनने की कोशिश करते हैं, आप बेहतर सीख पाते हैं।
न्यूजीलैंड में, बुश मुख्य रूप से देशी पेड़ों के क्षेत्रों को संदर्भित करता है। बुश घने पेड़ों से घिरा एक ऐसा एरिया है, जो हरियाली से घिरा होता है।