Home उत्तराखंड महाकुंभ:  लोगों को उत्तराखंड के इतिहास से रूबरू कराएंगी शहर की  दीवारें 

महाकुंभ:  लोगों को उत्तराखंड के इतिहास से रूबरू कराएंगी शहर की  दीवारें 

86
0

 

 

 

दीवारों पर उतराखण्ड की संस्कृति-इतिहास उकेर रहे कलाकार

दिल्ली से आई है कलाकारों की टीम

हरिद्वार। आने वाले महाकुंभ के लिए मेला प्रशासन की तरफ से एक नई पहल की गई है। अब की बार हरिद्वार आने वाले लोग शहर की दीवारों पर उत्तराखंड के इतिहास की खूबसूरत झलक देखेंगे। मेला प्रशासन की तरफ से  आगंतुकों की  सुरक्षा और सुविधाएं तो सुनिश्चित की ही जा रही हैं, हरिद्वार को नया रूप भी दिया जा रहा है ताकि कुंभ आने वालों के लिए यह एक यादगार बन जाए।
प्रयागराज कुंभ की तर्ज पर अब हरिद्वार पंहुचने वाले श्रद्धालुओं को भी उतराखण्ड की संस्कृति से रूबरू होने का मौका मिलेगा।कुंभ मेला प्रशासन हरिद्वार में गंगा से सटे हुए सभी आश्रमों,  अखाड़ों, धर्मशालाओं व सरकारी और गैर सरकारी भवनों को पारंपरिक चित्रों से रंगवा रहा है। इसके लिए दिल्ली से आए कलाकारों ने काम शुरु कर दिया है। 2021 महाकुंभ में हरिद्वार नगर आने वालों को यह पूरी तौर पर उत्तराखंड की संस्कृति से रंगा नजर आएगा।

 मेलाधिकारी दीपक रावत की पहल पर किए जा रहे इस अनूठे प्रयोग के तहत हरिद्वार स्थित सभी भवनों और मठ- मंदिरों में चित्रकला के ज़रिए राज्य के इतिहास को दर्शाया जाएगा।  उनका मानना है कि इससे नगर की खूबसूरती तो बढ़ेगी ही, इसके साथ ही यहां के इतिहास से भी लोग रूबरू हो सकेंगे।
दीवारों पर इतिहास को उकेरने के इस काम के लिए दिल्ली से आए कलाकार हरिद्वार में डेरा जमा चुके हैं। इस टीम में शामिल कलाकार भावना शर्मा कहती हैं कि इस कार्य को लेकर वो उत्साहित हैं और उन्हें अपनी चित्रकला के प्रदर्शन के लिए एक बेहतरीन प्लेटफ़ॉर्म मिला है।