Home Home चाचा ही निकला नाबालिग भतीजी का कातिल

चाचा ही निकला नाबालिग भतीजी का कातिल

63
0


लालकुआं – कलयुग में रिश्ते किस तरह तार तार हो रहे हैं, इसकी बानगी नगर में हुई एक हृदय विदारक घटना के रूप में देखने को मिली है। नाबालिग भतीजी को चाचा ने बदचलनी का शक होने के चलते मौत के घाट उतार दिया। भतीजी की मौत की पहेली को लालकुआं पुलिस महज़ 48 घंटे के अंदर सुलझाने लेने में कामयाब हो गयी। पुलिस की इस उपलब्धि की हर कोई तारीफ कर रहा है, वहीं कलयुगी चाचा को हर कोई कोस रहा है। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए आरोपी चाचा को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 302 व 201 के तहत कार्यवाई करते हुए उसे न्यायालय में पेश कर जेल के लिए रवाना कर दिया है। बता दें कि बीते 14 अगस्त को टांडा जंगल में एक नाबालिग लड़की का शव मिला था। पुलिस ने शव को कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया था। तब से पुलिस हत्यारे की तलाश में जुटी थी। जांच के दौरान मृत नाबालिग लड़की की शिनाख्त आरती शर्मा पुत्री स्वर्गीय सत्यराम शर्मा, हाल निवासी वर्मा कालोनी, वीवीआईपी गेट, घोड़ानाला, लालकुआं के रूप में हुई। अपनी जांच में पुलिस को यह सूचना मिली कि नाबालिग की हत्या होने से एक दिन पूर्व मृतका के चाचा काशीराम शर्मा ने उसके साथ मारपीट भी की थी। पुलिस ने शक के आधार पर आरोपी चाचा को पूछताछ के लिए उठाया। पुलिस पूछताछ में काशीराम शर्मा टूट गया और अपना जुर्म कबूल कर लिया। उसने बताया कि उसकी 15 वर्षीय भतीजी को उसने ढाई माह पूर्व अपने घर कामकाज में पत्नी का हाथ बंटाने के लिए बुलाया था । तब से वह यहीं रह रही थी। आरोपी काशीराम शर्मा ने यह भी बताया कि उसका एक लड़के से प्रेम प्रसंग चल रहा था। घटना वाले दिन वह रात में उठकर एक लड़के से मिलने गई थी। उसका पीछा करते हुए वह भी मौके पर पहुंच गया, जहां से उक्त युवक फरार हो गया और भतीजी भी भागने लगी, इसी दौरान आरोपी चाचा ने उसी की चुन्नी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी और मौक़े से फरार हो गया। पुलिस ने आरोपी काशीराम शर्मा को गिरफ्तार कर उसे न्यायालय के समक्ष पेश कर जेल के लिए रवाना कर दिया। एसपी लालकुआं राजीव मोहन ने मामले का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को बधाई दी है। गौरतलब है कि मृतका मूल रूप से यूपी के शाहजहांपुर के रेती मुहल्ला, नयी बस्ती की रहने वाली थी।