Home उत्तराखंड शर्मनाक: नौ साल की मासूम पर मौत बन कर झपटा गुस्सैल मां...

शर्मनाक: नौ साल की मासूम पर मौत बन कर झपटा गुस्सैल मां का डंडा

120
0

रुड़की-  नौ साल की लापता बच्ची की तलाश में जुटी पुलिस उस वक्त हैरान रह गयी, जब उसे पता चला कि सगी मां ने ही उसकी हत्या करने के बाद गुमशुदगी की झूठी रिपोर्ट लिखा दी।   नरेश कुमार पुत्र प्रेम सिंह निवासी ग्राम- हथियाथल, थाना- मंगलौर ने थाना पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसकी पुत्री प्रीति उर्फ परी उम्र 9 वर्ष घर से अचानक गायब हो गयी। जिसे आसपास काफी तलाश किया गया लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया। पुलिस ने तहरीर के आधार पर गुमशुदगी दर्ज करते हुए कार्यवाही शुरू कर दी। गुमशुदा की तलाश हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार के आदेश व पुलिस अधीक्षक ग्रामीण व क्षेत्राधिकारी मंगलौर के निर्देशन में थाना मंगलौर से टीमें गठित की गईं। पुलिस टीम द्वारा गुमशुदा की तलाश हेतु गांव के आस पास संदिग्ध लोगों से पूछताछ की गई तथा सीसीटीवी की फुटेज खंगाले गए। एक नवम्बर को कन्ट्रोल रूम द्वारा पुलिस को  सूचना मिली कि ग्राम हथियाथल आश्रम के पीछे गन्ने के खेत में एक बालिका का शव पड़ा है। सूचना पर प्रभारी निरीक्षक मंगलौर पुलिस टीम सहित मौके पर पहुंचे तो शव की पहचान ग्रामीणों व परिजनों द्वारा गुमशुदा प्रीति उर्फ परी के रूप में की गयी। पुलिस की पूछताछ में आरोपी महिला अपना ने जुर्म  कबूल कर लिया। उसने बताया कि वारदात के दिन नरेश व पूनम दोनों बबलू त्यागी के खेतों में रोज की भाँति काम करने गये थे। अपने दोनों छोटे बच्चों को प्रीति के साथ घर में छोड़ गये थे। दिन में करीब दो बजे पूनम घर आयी तो दोनों छोटे बच्चे घर में अकेले शौच में सने थे और परी घर पर मौजूद नहीं थी।   पूनम ने गुस्से में बच्चों की साफ सफाई की तथा परी को ढूंढा जो नहीं मिली। जब शाम को परी घर पर आयी तो पूनम ने उसे डराने के लिये गुस्से में लकड़ी का डंडा परी पर मारा। डंडा परी के सिर पर लगा और वह बेहोश हो गयी,  पूनम ने परी को  हिलाया डुलाया तो वह कुछ नहीं बोली। इस पर पूनम ने डर के कारण बेसुध बेटी को पलंग के नीचे खिसका दिया। जब रात करीब सात बजे नरेश काम से घर पर लौटा तो पूनम ने उसे बताया कि उसने प्रीति को डराने के लिए डंडे से मारा जिससे वह मर गयी। उसके बाद उसे पलंग के नीचे रखा है । इस पर  नरेश  पूनम को बचाने के लिए उसी दिन आधी रात लगभग दो  बजे के करीब  परी की लाश को शॉल में लपेटकर गाँव के बाहर आश्रम के पीछे गन्ने के खेत में डाल आया था। अगले दिन दिनांक 27 अक्टूबर को नरेश ने थाना कोतवाली मंगलौर पर अपनी लड़की प्रीति उर्फ परी के गुम होने की रिपोर्ट दर्ज करायी। थाना मंगलौर में एसपी देहात नवनीत सिंह ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी माता पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त सामान भी बरामद कर लिया गया है।