Home Home मां-बेटी पर टूटा कुदरत का क़हर , भूस्खलन के मलबे में हुईं...

मां-बेटी पर टूटा कुदरत का क़हर , भूस्खलन के मलबे में हुईं ज़िंदा ही दफ़न

66
0

गोपेश्वर – रविवार रात्रि से लगातार हो रही बारिश से चमोली जिले के घाट विकास खंड में अतिवृष्टि से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। बांजबगड़ गांव में आवासीय मकान के पीछे से हुए भूस्खलन के कारण मां और बेटी के मलबे में दब जाने की जानकारी मिली है, जबकि बांजबगड़ गांव के ही ऑली तोक में भी एक किशोरी के मलबे में दबे होने की सूचना है। चुफलागाड़ और नंदाकिनी के उफान पर आने से घाट बाजार में तीन दुकानें बह गई हैं।
घाट-बांजबगड़ मोटर मार्ग पर गरणी गांव में पहाड़ी से हुए भूस्खलन के कारण दो वाहन और एक मकान मलबे में दब गया है। मोख घाटी में मोक्ष नदी के उफान पर आने से कई आवासीय भवन खतरे की जद में आ गए हैं। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंद किशोर जोशी ने बताया कि प्रभावित क्षेत्रों में तहसील और आपदा टीमें राहत, बचाव कार्य में जुट गई हैं। अभी भी क्षेत्र में बारिश हो रही है। वहीं, बदरीनाथ हाईवे बाजपुर, कौड़िया, लामबगड़ और कंचनगंगा में अवरुद्घ है। बदरीनाथ धाम और हेमकुंड साहिब की तीर्थयात्रा पर जा रहे यात्री जगह-जगह हाईवे खुलने का इंतजार कर रहे हैं। चमोली जिले में भूस्खलन के कारण 14 संपर्क मोटर मार्ग अवरुद्घ हो गए हैं। सोमवार को भी सुबह साढ़े आठ बजे से जिले में भारी बारिश का कहर जारी है।