Home उत्तराखंड मिसाल: पुलिस कप्तान अजय सिंह ने परिवार को छोड़कर जवानों के साथ...

मिसाल: पुलिस कप्तान अजय सिंह ने परिवार को छोड़कर जवानों के साथ मनाई दिवाली

51
0

रुद्रप्रयाग से कुलदीप रावत 

 दीवाली एक ऐसा त्यौहार है, जिसे सभी अपने अपने परिजनों और परिवार के साथ सेलिब्रेट करना पसंद करते हैं। इस त्यौहार को मनाने वाले इस दिन कम से कम अपने परिवार के बीच रहना ही पसंद करते हैं। लेकिन एक वर्दीधारी सिपाही ही ऐसा होता है, जो इस दिन अपने साथियों और अपनी टीम को ही अपना परिवार समझकर उनके साथ त्यौहार मनाता है, वह चाहे देश की सीमाओं पर पहरा देने वाला फौजी हो या फिर देश के अंदर पुलिस के जवान।

 ऐसे ही हालात में 27 अक्टूबर को केदारनाथ में  जब पुलिस,एसडीआरएफ, डीडीआरएस और पीएसी के जवान  दीपावली को लेकर अपनी अपनी तैयारियों में जुटे हुए थे कि तभी  अचानक बिना किसी पूर्व सूचना के सादी वर्दी में  बगैर गनर साथ लिए रुद्रप्रयाग जिले के कप्तान अजय सिंह केदारनाथ जा पहुंचे । आमतौर पर इस दिन तमाम बड़े अधिकारी अपने परिवार या बीवी बच्चों के साथ यह त्यौहार मनाना पसंद करते हैं, लेकिन रुद्रप्रयाग के कप्तान अजय सिंह पटाखे और मिठाई लेकर अपनी पुलिस टीम का हौसलाआफजाई करने और उन्हें दीवाली की बधाई देने केदारनाथ पहुंच गए।

सुबह सुबह 10:00 बजे केदारनाथ में ड्यूटी पर तैनात पुलिस के जवानों को लगा कि शायद कप्तान साहब रुटीन राउंड पर आए हैं। लेकिन जब  उन्हें पता चला कि रुद्रप्रयाग जिले के कप्तान अजय सिंह दीवाली केदारनाथ में ही मनाने जा रहे हैं  तो फिर  सभी जवानों में खुशी और उत्साह की लहर दौड़ पड़ी। फिर क्या था  पुलिस कप्तान अजय सिंह के द्वारा   नाच गाने के साथ दीवाली की रात जवानों के साथ सेलिब्रेट की गई और अगली सुबह पुलिस कप्तान अजय सिंह बाबा केदारनाथ के दर्शन कर वापस रुद्रप्रयाग लौट आए।