Home उत्तराखंड ​मेलाधिकारी दीपक रावत ने निर्माण कार्यों में गुणवत्ता को लेकर दिए सख्त...

​मेलाधिकारी दीपक रावत ने निर्माण कार्यों में गुणवत्ता को लेकर दिए सख्त निर्देश

125
0



हरिद्वार-  महाकुम्भ मेला-2021 के अंतर्गत बनाये जा रहे स्नान घाटों के निर्माण कार्य का शनिवार को मेलाधिकारी दीपक रावत ने निरीक्षण किया। हरकी पैड़ी पर भीड़ के दबाव को कम किये जाने के दृष्टिगत विभिन्न स्थलों पर घाट का निर्माण किया जाना है। मेलाधिकारी  ने कहा कि कुम्भ मेला के अन्तर्गत होने वाले स्थाई और अस्थाई कार्यों की थर्ड पार्टी द्वारा गुणवत्ता की जांच की जायेगी। इस सम्बन्ध में उन्होंने निर्देश दिया कि औचित्यपूर्ण एवं गुणवत्तापूर्ण कार्य पर बल दिया जाए एवं प्रत्येक स्तर पर पारदर्शिता बरती जाए।
नवीन विभिन्न स्नानघाट निर्माण कार्य के अन्तर्गत बहादराबाद विकासखण्ड में गंगनहर के दायें तट पर 200 मीटर लम्बा और 3 करोड़ 27 लाख की लागत से गोविन्द घाट का निर्माण किया जाना है तथा 102 मीटर लम्बा एवं 2 करोड़ 35 लाख रू. लागत से राम घाट का निर्माण किया जाना है। सती घाट के समीप स्कैप चैनल कनखल के दायें किनारे 325 मीटर लम्बा 4 करोड़ 75 लाख रू. की लागत से स्नानघाट का निर्माण किया जाना है। इसके अतिरिक्त प्रेमनगर आश्रम के सामने 165 मीटर लम्बा, 2 करोड़ रू. की लागत से स्नानघाट का निर्माण एवं अजीतपुर में बालकुमारी मन्दिर के सामने स्नानघाट का निर्माण, कांगड़ी घाट निर्माण कार्य प्रमुख हैं।
औचित्य एवं सुविधा की दृष्टि से गंगनहर के दोनों दिशा में घाट निर्माण के लिए, सौन्दर्यीकरण, विस्तारीकरण एवं नवीनीकरण के बिन्दुओं को ध्यान में रखकर यह निरीक्षण किया गया। जनघनत्व, उन स्थलों जहाँ अधिक संख्या में श्रद्धालु आते हैं एवं अधिक संख्या में आश्रम-अखाड़ा स्थल पर, घाट निर्माण के लिए विशेष बल दिया जायेगा।
इस अवसर पर अपर मेलाधिकारी हरवीर सिंह, उप मेलाधिकारी गोपाल चैहान, सिंचाई विभाग के अधीशासी अभियन्ता पुरूषोत्तम एवं सिंचाई विभाग के सम्बन्धित अभियन्ता मौजूद थे।
(सहायक निदेशक, सूचना नोडल अधिकारी)