Home उत्तराखंड हालात: खस्ताहाल सड़कों का पर्यटन सीजन पर बुरा असर

हालात: खस्ताहाल सड़कों का पर्यटन सीजन पर बुरा असर

70
0

बागेश्वर। विभागीय अनदेखी के चलते यहां की सड़कें बदहाली का शिकार हो रही हैं जिसका सीधा असर पर्यटन सीजन पर पड़ रहा है। जिले में सर्दी की शुरुआत के साथ ही बंगाली पर्यटकों की आवाजाही शुरू हो गई है। कौसानी और बैजनाथ में विशेष तौर पर सैलानी घूमने आ रहे हैं। हर साल की तरह इस बार भी पर्यटक यहां के सौंदर्य और हसीन वादियों से अभिभूत हैं, लेकिन सडक़ें उनकी परेशानी को बढ़ा रही हैं। बैजनाथ से कौसानी तक की रोड पूरी तरह से गड्ढों से पटी है। जिससे सैलानियों के साथ वाहन चालकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। हर साल ठंड के मौसम में जिला बंगाल, बिहार, आसाम आदि क्षेत्रों से आने वाले सैलानियों की पसंदीदा सैरगाह रहा है। ये लोग यहां घूमने फिरने के साथ ठंड के मौसम का लुत्फ उठाते हैं। दीवाली से लेकर नये साल तक का जश्न यहां की हसीन वादियों में मनाने को लोग लालायित रहते हैं, लेकिन यहां आने के लिए उन्हें कई तरह की परेशानियां भी उठानी पड़ती है। जिनमें सबसे प्रमुख समस्या है यहां की सडक़ें।

विभागीय उदासीनता के चलते सडक़ों का बुरा हाल है। कौसानी से बागेश्वर की सडक़ पूरी तरह से गड्ढों से पटी है। बैजनाथ से कौसानी तक अधिक बुरा हाल है। जिससे सैलानी कौसानी से आगे आने से कतरा रहे हैं। वहीं ये गड्ढायुक्त सडक़ें वाहन चालकों के लिए भी सिरदर्द बनी हुई हैं। कई दुपहिया वाहन चालक इनसे चोटिल हो चुके हैं। वाहन चालक प्रथमन बिष्ट, मनोज सिंह, कैलाश जोशी, पूरन रावत, मोहन सिंह, हरीश सिंह आदि ने कहा कि कई बार विभाग को सूचित किया गया। इसके बावजूद नतीजा सिफर रहा। उन्होंने जल्द सडक़ों की हालत नहीं सुधरने पर विभाग के खिलाफ तहसील परिसर में धरना देने की चेतावनी दी। इधर, लोनिवि के ईई यूसी पंत ने कहा बजट के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा है। बजट आवंटन होते ही सडक़ों के गड्ढे भरने का काम किया जाएगा।