Home उत्तराखंड मिसाल : सेंट्रल स्कूल के बच्चों को डीएम स्वाति भदौरिया ने...

मिसाल : सेंट्रल स्कूल के बच्चों को डीएम स्वाति भदौरिया ने दी सौगात

124
0

चमोली –यहाँ की जिलाधिकारी स्वाति भदौरिया अपने अच्छे कार्यों से जहाँ एक तरफ जनता के बीच लोकप्रियता हासिल कर रही हैं, वहीं अपने जैसे अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के लिए मिशाल भी पेश कर रही हैं. ताज़ा मामला स्कूली बच्चों के लिए बस मुहैया करने का है. डीएम भदौरिया की तरफ से  केन्द्रीय विद्यालय गोपेश्वर के बच्चों को एक बड़ी सौगात मिली है। अब यहां के बच्चों को स्कूल आने जाने के लिए किसी प्राइवेट गाड़ी के इंतजार में घंटों सड़क पर खड़ा नहीं रहना पड़ेगा। बच्चे अब समय पर स्कूल और अपने घर पहुंचेंगे। सोमवार को जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने केन्द्रीय विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों के लिए 32 सीटर बस का शुभांरभ कर एक बड़ी सौगात दी है। अभिभावक संघ ने भी राहत महसूस करते हुए जिलाधिकारी के प्रयासों की जमकर सराहना की। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने अभिभावकों की मांग पर केन्द्रीय विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों के लिए स्कूल आने जाने हेतु 32 सीटर बस की व्यवस्था की है। सोमवार को उन्होंने स्कूल बस का विधिवत शुभांरभ भी किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि बच्चों की सुरक्षा को मध्येनजर रखते हुए स्कूल बस का संचालन शुरू किया गया है। डीएम ने बच्चों के साथ स्कूल बस में बैठकर बस का ट्रायल भी लिया। उन्होंने वाहन स्वामी को स्कूल बस की खिड़कियों में सुरक्षा के लिए जाली भी लगाने को कहा। दरअसल, केन्द्रीय विद्यालय में कुण्ड काॅलोनी, गोपेश्वर गांव, कोठियालसैंण, चमोली आदि दूर दूर से बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं और बच्चों को आने जाने में रोज गाड़ियों की समस्या से जूझना पड़ रहा था, लेकिन अब स्कूल बस का संचालन शुरू होने से बच्चों और उनके अभिभावकों ने बड़ी राहत महसूस करते हुए जिलाधिकारी के प्रयासों की जमकर सराहना भी की है। इस अवसर पर मुख्य कोषाधिकारी बीरेन्द्र कुमार, प्रधानाचार्य प्रदीप कुमार, अध्यापक भारत भूषण, आजाद सिंह, प्रमोद भट्ट सहित अभिभावक एवं विद्यार्थी मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि जिलाधिकारी के प्रयासों से केन्द्रीय विद्यालय का जल्द उच्चीकरण भी होने जा रहा है। यहाॅ पर अगले सत्र से 11वीं की कक्षाएं भी संचालित की जाएंगी। इसके अलावा केन्द्रीय विद्यालय में सुधारीकरण के तहत सफेदी, वाॅलपेंन्टिग, शौचालयों में पानी के कनेक्शन के साथ-साथ सुरक्षा के लिए विद्यालय परिसर के चारों ओर तारबाड़ (फैन्सिंग) भी कराई जा रही है, जिसका पूरा खर्चा जिला प्रशासन द्वारा वहन किया जा रहा है। केन्द्रीय विद्यालय के अपने भवन निर्माण के लिए वित्तीय स्वीकृति भी मिल चुकी है और सब कुछ ठीक रहा तो जल्द इसका निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा। स्कूली शिक्षा की दशा और दिशा सुधारने के लिए डीएम स्वाति एस भदौरिया ने जनपद चमोली में जो पहल शुरू की है, उसके परिणाम अब धरातल पर दिखने लगे हैं। शिक्षा के लिए जहाॅ आंगनबाड़ी से लेकर माध्यमिक शिक्षण संस्थाओं को माॅडर्न बनाया गया है, वहीं उच्च स्तरीय शिक्षण संस्थाओं को भी गुणवत्तापरक शिक्षा के लिए सुसज्जित किया गया है। यही नहीं, स्नातक पास मेधावी युवाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए पीजी काॅलेज गोपेश्वर में निःशुल्क प्रेरणा कोचिंग सेंटर भी संचालित है। जनपद में शिक्षा को प्रमोट करने के लिए डीएम के अथक प्रयास निश्चित रूप से आने वाले समय में एक मील का पत्थर साबित होंगे। (सूचना वि. )