Home उत्तराखंड ऋषिकेश पुलिस ने शातिर चोर को बाइक समेत धर दबोचा

ऋषिकेश पुलिस ने शातिर चोर को बाइक समेत धर दबोचा

79
0

देहरादून। एम्स हॉस्पिटल ऋषिकेश स्थित यस बैंक से 3 लाख 50 हजार रुपये चोरी करने के एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर घटना में प्रयोग की गई बाइक भी बरामद की है।
पुलिस के अनुसार, यस बैंक के मैनेजर पवन कुमार ने पुलिस को सूचना दी कि 23 सितंबर को बैंक के कर्मचारी ने बैंक में जमा कराने के लिए दो लिफाफों में 3 लाख 50 हजार रुपये काउंटर की मेज पर रखे और ओपीडी में कैश लेने चला गया । इसी बीच अज्ञात चोर ने काउण्टर से कैश चोरी कर लिया। पवन कुमार की शिकायत पर कोतवाली ऋषिकेश में मुकदमा दर्ज कर विवेचना उपनिरीक्षक राज विक्रम सिंह पंवार को दी गई।
पुलिस टीम ने एम्स हॉस्पिटल, सड़क किनारे प्रतिष्ठानों में लगे व पुलिस विभाग द्वारा लगाये गये सीसी टीवी कैमरों की फुटेज चैक की, जिससे पुलिस को घटना में एक विक्रान्ता बाइक सवार तीन लड़कों द्वारा वारदात करना पाया गया। इस पर पुलिस टीम द्वारा मुखबिर तन्त्र को सक्रिय किया गया।
12 अक्टूबर को पुलिस टीम को सूचना प्राप्त हुई कि उपरोक्त घटना में शामिल एक लड़का उसी बाइक से दोबारा चोरी की वारदात करने के लिये एम्स में आने वाला है। इस पर पुलिस टीम द्वारा बैराज रोड लक्कड़घाट तिराहे पर चैकिंग अभियान चलाया गया। चैकिंग के दौरान हरिद्वार की तरफ से आती एक विक्रान्ता बाइक को रोका गया, जिसे चालक सूरज मल्होत्रा पुत्र दिनेश मल्होत्रा निवासी म.नं. 41/17/5 ब्रहमपुरी शिव कुटिया, कोतवाली नगर, हरिद्वार चला रहा था। तलाशी पर इसकी जेब से सात सौ रुपये बरामद हुए। इस पर अभियुक्त सूरज को देर शाम को गिरफ्तार कर लिया गया।
पूछताछ में अभियुक्त सूरज ने बताया कि रामा निवासी राजस्थान व मैं दोस्त हैं। रामा जेब काटने तथा चोरी करने में माहिर है, जो अक्सर ऋषिकेश व हरिद्वार के भीड़भाड़ वाले इलाकों में जेब काटता व चोरी करता था। कई बार इसके साथ मैं भी चोरी करता था। चूंकि एम्स हॉस्पिटल में हमने देखा कि यहां पर लाचार लोग आते हैं, जो अपने इलाज के लिये काफी रुपये लेकर आते हैं व अस्पताल के बाहर मैदान व फर्श पर पड़े रहते हैं तथा बिल काउण्टर आदि पर लाईनों में काफी संख्या में खड़े रहते हैं, जिनका रुपये व सामान चोरी करना काफी आसान होता है। इसलिये मैं अपनी बाइक से अपने साथी रामा व एक अन्य साथी, जिसका नाम लुंगा था, के साथ एम्स हॉस्पिटल ऋषिकेश आया, जहां पर एम्स बिल्डिंग में बने यस बैंक के काउण्टर की मेज में दो लिफाफे में रखे थे, जिन्हें हमने चुरा लिया। इन रुपयों में से मैंने 15000 रुपये लिये, जिनमें से 5000 रुपये मैंने टीवीएस स्कूटी खरीदने के लिये एडवांस में दिये, 3000 रुपये खाने पीने में खर्च हो गये तथा मेरे पास 7000 रुपये बचे। चोरी के शेष रुपये रामा व लुंगा के पास ही हैं, जिन्हें हमने दीपावली से पहले आपस में बांटना था।
सूरज ने यह भी बताया कि पिछली 22 जुलाई को कांवड़ मेले के दौरान रामा ने अपने एक साथी के साथ मिलकर पंजाब नेशनल बैंक हरिद्वार रोड, ऋषिकेश में एक व्यक्ति के बैग से 50000/- रुपये चुरा लिये थे। इस सम्बन्ध में थाना ऋषिकेश पर चोरी का अभियोग पूर्व से पंजीकृत है। शेष दोनों अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए एक पुलिस टीम उनके संभावित ठिकानों पर रवाना की गयी है, जिनकी शीघ्र गिरफ्तारी की जायेगी।