Home उत्तराखंड मां के लाडले को हाथ से छीन कर मार डाला गुलदार ने

मां के लाडले को हाथ से छीन कर मार डाला गुलदार ने

49
0

बेरीनाग(पिथौरागढ़)। पहाड़ों में आदमखोर गुलदार (तेंदुए) इतने खूंखार हो चुके हैं कि अब घरों में घुस कर लोगों को अपना शिकार बनाने लगे हैं। यहां तो तेंदुए ने एक बच्चे को उसकी मां के हाथ से ही छीन कर मार डाला। क्षेत्र के काण्डे किरोली के जाख रावत ग्राम में तीन साल के बच्चे को गुलदार ने उस वक्त मार डाला जब बच्चे की मां उसका हाथ पकड़ कर घर की सीढ़ियों से उतर रही थी। बच्चे के पिता रमेश कार्की निवासी जाख दिल्ली में प्राईवेट नौकरी करते हैं। घर में पत्नी हेमा देवी दो बेटियों, ज्योति कार्की(8वर्ष), बन्नू कार्की (6 वर्ष) और तीन साल के बेटे नैतिक कार्की के साथ रहती है। गत रात्रि नैतिक अपनी मां के साथ घर में था। रात करीब नौ बजे नैतिक को दूध पिलाने के लिए हेमा देवी अपने मकान की ऊपर वाली मंजिल से दूध गरम करके नीचे वाले कमरे में आ रही थी। हेमा के एक हाथ में दूध का गिलास था और दूसरे हाथ को पकड़कर नैतिक मां के साथ चल रहा था । नीचे बरामदे में उतरने के बाद कमरे के अन्दर जाने से पहले हेमा ने जैसे ही बरामदे में लगा बिजली का बल्ब बंद किया कि तभी पहले से घात लगाये बैठे गुलदार ने नैतिक पर छपट्टा मार कर मुंह में दबोच लिया और भाग निकला। अचानक हुए इस हमले से बदहवास हेमा ने शोर मचा दिया। हेमा देवी के चिल्लाने के बाद एकत्र हुए ग्रामीणों ने गुलदार का पीछा किया। तब तक गुलदार नैतिक को घर से करीब 250 मीटर की दूरी पर छोड़ कर भाग गया। नैतिक के गले में गुलदार के दांतों और पंजों से काफ़ी गहरे घाव लग चुके थे लेकिन उसकी सांसें चल रही थीं। ग्रामीणों ने तुरंत मौके से नैतिक को बेरीनाग अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। ग्रामीणों ने बेरीनाग में ही पोस्टमार्टम कराने की मांग की। विधायक मीना गंगोला ने जिलाधिकारी से बात कर ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि पोस्टमार्टम बेरीनाग में ही कराया जायेगा, लेकिन बेरीनाग में पोस्टमार्टम की व्यवस्था नहीं होने के कारण उसे पिथौरागढ़ भेज दिया गया । इस दर्दनाक घटना के बाद नैतिक के पिता रमेश सिंह कार्की और माँ हेमा देवी सदमे में हैं। ग्रामीण इंद्र सिंह,सुंदर सिंह ,मनोज सिंह ,धीरेंद्र सिंह व राजेंद्र सिंह आदि ने शासन से पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा देने और आदमखोर गुलदार से ग्रामीण जनता की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है।