Home उत्तराखंड प्लास्टिक या पाॅलीथीन से बनी प्रचार सामग्री इस्तेमाल नहीं होगी- डीएम

प्लास्टिक या पाॅलीथीन से बनी प्रचार सामग्री इस्तेमाल नहीं होगी- डीएम

100
0

चमोली। त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2019 के दृष्टिगत जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी(पं.) स्वाति एस भदौरिया ने सभी आरओ, एआरओ, जोनल व सैक्टर मजिस्ट्रेट, निर्वाचन ड्यूटी पर तैनात कार्मिकों को आदर्श आचार संहिता का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी प्रत्याशी अपने प्रचार हेतु किसी भी सरकारी भवन या परिसंपत्ति का इस्तेमाल नहीं करेगा और ना ही कोई बैनर, पोस्टर, स्लोगन, वाॅल पेन्टिंग, होर्डिंग्स इत्यादि चस्पा करेगा। प्राइवेट भवन पर प्रचार सामग्री चस्पा करने से पूर्व भवन स्वामी से अनुमति लेनी भी अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन पाए जाने पर कडी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि आयोग द्वारा सदस्य ग्राम पंचायत पद के लिए 10 हजार, ग्राम प्रधान व सदस्य क्षेत्र पंचायत के लिए 50 हजार तथा सदस्य जिला पंचायत के लिए 1.40 लाख अधिकतम व्यय सीमा निर्धारित है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सभी प्रत्याशियों को नाम वापसी के बाद निर्वाचन अधिकारी व सहायक निर्वाचन अधिकारी द्वारा प्रमाणित निर्वाचन व्यय विवरण रजिस्टर प्राप्त करना होगा और निर्वाचन परिणाम की घोषणा के तीस दिन के अन्दर पंचास्थानि निर्वाचन कार्यालय में अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करना होगा। निर्धारित व्यय सीमा से अधिक व्यय करने वाले प्रत्याशियों को आयोग्य घोषित किया जाएगा।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि कोई भी प्रत्याशी चुनाव के दौरान प्लास्टिक या पाॅलीथीन से बनी प्रचार सामग्री भी इस्तेमाल नहीं करेगा। सभी सदस्य ग्राम पंचायत, ग्राम प्रधान, सदस्य क्षेत्र पंचायत व जिला पंचायत के प्रत्याशियों को प्लास्टिक या पाॅलिथीन से निर्मित प्रचार सामग्री का प्रयोग न करने संबधी शपथपत्र भी अनिवार्य रूप से देना होगा।