Home Home प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में सड़क यातायात बाधित

प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में सड़क यातायात बाधित

79
0

पौड़ी- प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में हो रही भारी बारिश के कारण सड़क यातायात बाधित होने से यात्रियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है . पिछले 2-3 दिनों से लगातार हो रही बारिश स्थानीय लोगों के साथ साथ बाहर से आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए भी परेशानियों का सबब बन रही है. पहाड़ियों से लगातार सड़कों पर गिर रहे पत्थर और मलबा यात्रियों के लिए खतरा पैदा कर रहे हैं. कल यमुनोत्री हाईवे पर डाबरकोट नामक स्थान पर सड़क बंद हो गयी थी जिसे कड़ी मशक्कत के बाद यातायात के लिए खोला जा सका था. हालाँकि वहां पहाड़ी से रुक रुक कर पत्थरों के गिरने का सिलसिला जारी है. उधर चमोली जिले में भी मौसम काफी ख़राब बताया जा रहा है. हालाँकि घना कोहरा और बादल छाये होने के बावजूद बदरीनाथ व हेमकुंड साहिब की यात्रा सुचारु ढंग से चल रही है. दूसरी तरफ उत्तरकाशी में निरंतर बारिश के चलते भागीरथी नदी में गाद भरने से एमबी टू परियोजना में बिजली उत्पादन का काम प्रभावित होने लगा है. खतरे की आशंका को देखते हुए जल विद्युत् निगम को प्रोजेक्ट का पूरा जलाशय खाली करना पड़ा, जिसकी वज़ह से निचले इलाकों में भागीरथी नदी का जल स्तर काफी बढ़ गया है. मसूरी कैम्पटी मार्ग तथा पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग के बाधित होने की भी खबर है. रुद्रप्रयाग जिले की धनपुर पट्टी के चिनगवाड़ गांव के नीचे ज़मीन धंसने से भूस्खलन का खतरा मंडरा रहा है. लगातार बारिश होने से ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना हुआ है.
मौसम केंद्र देहरादून के निदेशक विक्रम सिंह ने देहरादून समेत चमोली,उत्तरकाशी,पिथौरागढ़ और नैनीताल ज़िलों में भारी बारिश की संभावना जताई है. इनके अलावा अन्य क्षेत्रों में भी हलकी और कहीं कहीं गरज़ के साथ तेज बौछारें पड़ सकती हैं. इसकी वजह से अधिकतम तापमान में भी गिरावट आ सकती है.