Home Home मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सच्चे गौभक्त – पंडित अणथ्वाल

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सच्चे गौभक्त – पंडित अणथ्वाल

93
0

नैनीताल। उत्तराखण्ड गौ सेवा आयोग के उपाध्यक्ष पं. राजेन्द्र अणथ्वाल ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को सच्चा गौभक्त बताते हुए कहा है कि श्री रावत गौमाता की सेवा को सबसे बड़ा तीर्थ मानते हैं। राज्य अतिथि गृह में पत्रकारों से वार्ता करते हुए अणथ्वाल ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में पशु धन को सवंर्धित और संरक्षित करने के लिए पूरी निष्ठा के साथ प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि आयोग का पूरा प्रयास रहेगा कि गौ वंशीय पशुओं को सड़कों पर बेसहारा न रहने दिया जाए। उन्होंने प्रदेश में गौ सेवा सदनों और गौ शालाओं को आत्म निर्भर बनाने तथा उनको आर्थिक मदद दिलाये जाने की बात कही।
आयोग के उपाध्यक्ष ने दावा किया कि गौ वंशीय पशुओं की देख-रेख में उत्तराखण्ड प्रथम स्थान पर है। उन्होंने बताया कि सरकार भी गौ वंशीय पशुओं के संवर्धन और उनकी देखभाल के लिए सार्थक पहल कर रही है, जिसके चलते प्रदेश के प्रत्येक जनपद में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गौ सेवा समितियां गठित की गयी हैं। उन्होंने कहा कि गौ संरक्षण के लिए स्वयं सेवी संस्थाओं, नगर पालिकाओं व शहरी विकास की संस्थाओं के साथ ही पशु पालन, कृषि तथा शिक्षा विभाग को भी संयुक्त रूप से कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि गौ संरक्षण के लिए जन जागरूकता कार्यक्रम संचालित करने में शिक्षा महकमे को भी अहम भूमिका निभानी होगी। उपाध्यक्ष ने बताया कि प्रदेश में कुल 22 गौ शालाएं पंजीकृत हैं, जिनका विस्तार कर ये संख्या लगभग 200 की जायेगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वह भूमि बैंक बनाए, उसमें से गौ शालाओं तथा चारागाहों के लिए भूमि उपलब्ध करायें। उन्होंने बताया कि 25 ग्राम सभाओं के बीच एक गौ शाला का निर्माण किया जाना आवश्यक है।