Home उत्तराखंड निर्माण कार्यों में गुणवत्ता और समयावधि का ध्यान रखा जाए- डीएम ...

निर्माण कार्यों में गुणवत्ता और समयावधि का ध्यान रखा जाए- डीएम भदौरिया

93
0


अल्मोड़ा । निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ-साथ निर्धारित समयान्तर्गत कार्यों को पूर्ण करना सुनिश्चित करे। यह निर्देश जिलाधिकारी नितिन भदौरिया ने विकास भवन में आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियो को दिये। उन्होंने निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिला योजना, राज्य योजना, केन्द्र सहायतित योजनाओं के अलावा जिन सैक्टरों में भी धनराशि स्वीकृत की गयी है उसे यथाशीघ्र आहरित करते हुए कार्य प्रारम्भ कर दें। उन्होंने कहा कि जल्दी ही त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की आचार संहिता प्रभावी होने की सम्भावना है इस बात को ध्यान में रखते हुए टैण्डर व कार्यों को प्रारम्भ कर दें।जिलाधिकारी ने कहा कि जो धनराशि जिला योजना में विभागों द्वारा खर्च की जाती है उसका उपयोगिता प्रमाण पत्र यथा शीध्र दें ताकि अगली किश्त जारी की जा सके।  इस समीक्षा बैठक में निर्माणदायी संस्था यू.पी.राजकीय निर्माण निगम के अधिकारियों को मेडिकल कालेज के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये। साथ ही कहा कि मैन पावर बढ़ायी जाय, जो भवन पूर्ण हो जाता है, उसे तत्काल चिकित्सा विभाग को हस्तान्तरित कर दिया जाय। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को मेडिकल कालेज के निर्माण कार्यों का निरीक्षण करते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा।इस दौरान उन्होंने निर्माणाधीन अंतर्राज्यीय बस अड्डे, विभिन्न महाविद्यालयों व अन्य निर्माण कार्यों की समीक्षा की और कार्यदायी संस्थाओं को निर्देश दिये कि जो कार्य पूर्ण हो चुके हैैं, उन्हें यथाशीघ्र सम्बन्धित विभाग को हस्तान्तरित कर दें, साथ ही उसकी सूची अर्थ एवं संख्याधिकारी कार्यालय में भी उपलब्ध करायेंजिलाधिकारी ने ग्रामीण निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि जो कार्य उनके द्वारा किये जा रहे हैं, उनकी सूची उपलब्ध करायेंं। जो कार्य प्रगति पर हैं, उन्हें तय समय में पूर्ण कर लें। उन्होंने के.एम.वी.एन. द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान कहा कि कटारमल व जागेश्वर में होने वाले कार्यों को तय समय से पूर्ण कर लें। जिलाधिकारी ने कहा कि मण्डलायुक्त द्वारा प्रत्येक माह इसकी समीक्षा की जा रही है ताकि उन्हें अवगत कराया जा सके। उन्होंने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिला योजना के अन्तर्गत अवमुक्त धनराशि आहरित करते हुए कार्य प्रारम्भ कर दें और स्वीकृत धनराशि को तय समय में व्यय करना सुनिश्चित करें।  इस समीक्षा बैठक में मुख्य विकास अधिकारी मनुज गोयल, प्रभागीय वनाधिकारी कुन्दन कुमार, वनाधिकारी सिविल सोयम खुशाल सिंह रावत, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. विनीता शाह, परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास नरेश कुमार, जिला विकास अधिकारी के.के.पंत, जिला शिक्षाधिकारी (माध्यमिक) एच.बी. चन्द, अर्थ एवं संख्या अधिकारी जी.एस. कालाकोटी सहित निर्माणदायी संस्थाओं के अधिकारी एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।