Home Home शोषण मामले मेें यूपी सरकार को एसआईटी गठित करने का निर्देश

शोषण मामले मेें यूपी सरकार को एसआईटी गठित करने का निर्देश

61
0

नई दिल्ली। कानून की पढ़ाई कर रही छात्रा के शोषण का बहुचर्चित मामला सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में पहुंच चुका है। भाजपा नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर शोषण के आरोपों के मामले मेें सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार को अहम निर्देश दिए। अदालत ने कहा कि चिन्मयानंद पर लगाए गए छात्रा के आरोपों की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया जाए और जांच की निगरानी इलाहाबाद हाईकोर्ट करे। अदालत ने उप्र के मुख्य सचिव को निर्देश दिए कि अगले आदेश तक छात्रा और उसके परिजनों को सुरक्षा मुहैया कराई जाए।
उल्लेखनीय है कि शाहजहांपुर, यूपी के एसएस लॉ कॉलेज की एक छात्रा ने काॅलेज के सर्वेसर्वा चिन्मयानंद पर शोषण के आरोप लगाए थे। यह कॉलेज चिन्मयानंद का है। वह 23 अगस्त को हॉस्टल से लापता हो गई थी और इसके बाद 30 अगस्त को राजस्थान में एक युवक के साथ मिली थी। छात्रा के पिता ने स्वामी चिन्मयानंद पर अपहरण और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज कराया था।
चिन्मयानंद मामले में सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने वकील से छात्रा की लोकेशन के बारे में जानकारी मांगने के बाद योगी सरकार को लड़की को पेश करने का निर्देश दिया था। 30 अगस्त को छात्रा के मिलने के बाद उसे अदालत में पेश किया गया। यहां पर एक न्यायाधीश ने उससे बातचीत की थी। इस दौरान छात्रा ने कहा था कि वह घर वापस जाना नहीं चाहती है और उसके परिजनों को भी दिल्ली बुला लिया जाए। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि छात्रा को सुरक्षा मुहैया कराई जाए।
छात्रा ने एक वीडियो जारी कर चिन्मयानंद पर आरोप लगाए थे। वीडियो में उसने कहा था कि वह एसएस लॉ कॉलेज में पढ़ती है। एक बहुत बड़ा नेता बहुत सी लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर चुका है। उसे और उसके परिवार को भी जान से मारने की धमकी देता है। छात्रा ने कहा कि वह इस टाइम कैसे रह रही है, उसे ही पता है। मोदी जी प्लीज… योगी जी प्लीज मेरी हेल्प करिए आप। वह संन्यासी, पुलिस और डीएम सबको अपनी जेब में रखता है। धमकी देता है कि कोई मेरा कुछ नहीं कर सकता। मेरे पास उसके खिलाफ सारे सबूत हैं। आपसे अनुरोध है कि मुझे इंसाफ दिलाएं।’ इस वीडियो को जारी करने के बाद से ही आरोप लगाने वाली छात्रा गायब हो गई थी, जिसे बाद में उसके एक दोस्त के साथ राजस्थान से बरामद किया गया था।