Home Home संवासिनी से दुष्कर्म मामले में नौ आरोपियों को सजा

संवासिनी से दुष्कर्म मामले में नौ आरोपियों को सजा

56
0

देहरादून- लंबे इंतजार के बाद कोर्ट ने आखिरकार एक लाचार संवासिनी के गुनहगारों को क़ैद की सज़ा सुना कर जेल भिजवा ही दिया। यहां स्थित राजकीय नारी निकेतन में एक मूक बधिर युवती के साथ दुष्कर्म और गर्भपात के मामले में अदालत ने सभी नौ आरोपियों को दोषी करार दिया है। उत्तराखंड के बहुचर्चित नारी निकेतन यौन शोषण मामले में कोर्ट ने आज दोषियों को सजा सुनाई।

This image has an empty alt attribute; its file name is images_1559135072999_ladies-1024x575.jpg

मुख्य आरोपी गुरदास को 7 साल की सजा देने के अलावा 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। वहीं, हासिम व ललित बिष्ट को 5-5 साल की कैद के साथ ही 10-10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। शमा निगार, चंद्रकला, किरण व अनिता मैंदोला को 4- 4 साल की कैद के अलावा 10-10 हजार का जुर्माना, मीनाक्षी पोखरियाल व कृष्णकांत को 2- 2 साल की सजा के साथ साथ 5-5 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। वहीं मीनाक्षी और कांछा को जमानत मिल गई है।
उल्लेखनीय है कि 2015 में नारी निकेतन में मूक बधिर संवासिनी से दुष्कर्म, गर्भपात कराने और भ्रूण को ठिकाने लगाने के आरोप में अदालत ने 30 अगस्त को सभी नौ आरोपियों को दोषी करार दिया था।

This image has an empty alt attribute; its file name is 348296-jail-1024x576.jpg

अपर जिला जज षष्ठम धर्म सिंह की अदालत ने आज आरोपियों को सजा का ऐलान कर दिया । दोषी करार दिए गए आरोपियों में तत्कालीन अधीक्षिका समेत 9 लोग शामिल हैं।ज़िला एवं सत्र न्यायाधीश 6 की कोर्ट से 23 लोगों की गवाही के बाद आखिरकार संवासनियों को इंसाफ मिल ही गया। शुरुआत में साक्ष्य के तौर पर पुलिस के पास केवल फैक्स था, जिसके बाद जांच शुरू की गई और 4 साल तक चली जांच के बाद आखिरकार संवासनियों से दुष्कर्म व उसका गर्भपात कराने में 9 लोगों को अदालत ने दोषी पाते हुए सज़ा सुना दी है।