Home Home अवैध धंधों के खिलाफ सड़कों पर उतर आयीं महिलाएं

अवैध धंधों के खिलाफ सड़कों पर उतर आयीं महिलाएं

59
0

कोटद्वार- भाबर के झंडीचौड़ क्षेत्र में लंबे समय से चल रही अराजक व गैरकानूनी गतिविधियों के चलते सामाजिक माहौल खराब होता जा रहा है। कई बार शिकायतें करने के बाद भी पुलिस और प्रशासन अराजक तत्वों पर अंकुश लगाने की दिशा में कोई कदम उठाने को राजी नहीं है। दिनों-दिन बिगड़ते जा रहे माहौल से परेशान स्थानीय महिलाओं का सब्र आखिर जवाब दे गया। पुलिस और प्रशासन के ढुलमुल रवैए से नाराज़ महिलाएं इसके विरोध में सड़क पर उतर आयीं। महिला मंगल दल पश्चिमी झंडीचौड़ के नेतृत्व में महिलाओं व क्षेत्रवासियों ने इलाके में जनाक्रोश रैली निकाल कर अपने गुस्से का इजहार किया। महिला मंगल दल का आरोप है कि झंडीचौड़ टैंपू स्टैंड चौराहा पिछले काफी दिनों से अराजक व गैरकानूनी गतिविधियों का अड्डा बना हुआ है। वहां पर न केवल खुलेआम अवैध शराब बेची जा रही है बल्कि सट्टे का भी कारोबार किया जा रहा है।

शरारती तत्वों द्वारा शराब पीकर गाली-गलौज और मारपीट करना आम बात हो गई है। महिला मंगल दल की अध्यक्ष रामेश्वरी देवी ने बताया कि झंडीचौड़ पश्चिमी और दक्षिणी क्षेत्र का ज्यादातर भू-भाग यूपी के वन क्षेत्र से लगा हुआ है , इसी वन क्षेत्र से होकर यूपी के अपराधियों का आना-जाना भी बना रहता है। कोटद्वार व उससे लगे क्षेत्रों में आपराधिक वारदातों को अंजाम देने के बाद अपराधी इसी रास्ते से भाग कर यूपी में जा छुपते हैं। लोगों का कहना है कि टैंपू स्टैंड पर शाम ढलते ही शराबखोरी शुरू हो जाती है और नशे में चूर अराजक तत्व न केवल गाली-गलौज और झगड़ा करते हैं बल्कि आसपास के घरों पर पत्थरबाजी भी करते रहते हैं। महिला मंगल दल ने टैंपू स्टैंड चौराहे पर दो पुलिसकर्मियों को नियमित रूप से तैनात किए जाने और स्थाई पुलिस बूथ बनाए जाने की मांग की है। इसी मांग को लेकर संगठन की तरफ से एस एस पी पौड़ी व पुलिस महानिदेशक देहरादून को पत्र भेजे गए हैं।