Home देश हताशा:  महिला ने विधानसभा के सामने खुद को लगा ली आग, पति...

हताशा:  महिला ने विधानसभा के सामने खुद को लगा ली आग, पति के लिए बदल लिया था धर्म 

129
0

संवाददाता

लखनऊ, 13 अक्टूबर।
 पहले पति से तलाक हो जाने के बाद उसने गैर मजहब के शख्स से न केवल प्यार और शादी की बल्कि उसकी मुहब्बत की दीवानगी में अपना धर्म परिवर्तन भी कर लिया. लेकिन इसके बाद भी उसे वो सुख नहीं मिल पाया जिसकी तमन्ना में उसने अपना मजहब तक दांव पर लगा दिया था. उल्टा नयी ससुराल वालों ने उसकी जिंदगी इतनी दुश्वार कर दी कि  वह आत्मदाह जैसा आत्मघाती कदम उठाने को मजबूर हो गयी. गैरमजहबी ससुरालियों के जुल्मों-सितम की शिकार महाराजगंज की इस पीड़ित महिला ने कहीं भी सुनवाई ना होने पर राजधानी लखनऊ में विधानसभा के सामने और बीजेपी कार्यालय के निकट खुद को आग लगा कर आत्मदाह की कोशिश की. किसी तरह मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने महिला की आग बुझाई और अस्पताल में भर्ती कराया. महिला की हालत नाजुक बताई जा रही है.
यह कहानी है यूपी के महराजगंज की रहने वाली अंजना तिवारी की. बताया जा रहा है कि उसका पति आशिक रजा सऊदी में रहता है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पहले उसकी शादी किसी अखिलेश तिवारी नाम के शख्स से हुई थी लेकिन संबंध ठीक ना होने की वजह से तलाक हो गया.
जानकारी के अनुसार, अखिलेश  से तलाक हो जाने के बाद अंजना तिवारी की दोस्ती  आशिक रजा नाम के एक मुस्लिम युवक से हो गई. धीरे-धीरे बात प्यार तक पहुंची और दोनों ने शादी कर ली. इस दौरान महिला ने अपने प्रेमी के लिए मुस्लिम धर्म कबूल कर लिया. इस्लामिक नाम की तरह ही उसका नाम भी बदल दिया गया.
शादी के बाद आशिक रजा सऊदी चला गया और यहां अंजना तिवारी उसके परिवार के साथ रहने लगी. कुछ ही दिनों में ससुराल के लोगों ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया. जब पुलिस से उसने मदद मांगी तो कोई कार्रवाई नहीं हुई जिसके बाद तंग होकर पीड़िता ने खुद को आग के हवाले कर दिया.
फिलहाल अंजना तिवारी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम की निगरानी में उसका इलाज चल रहा है. डॉक्टरों का कहना है कि महिला का शरीर 90 फीसदी तक जल चुका है. महिला ने मिट्टी का तेल छिड़क कर आत्मदाह का प्रयास किया था, जिसमें उसका चेहरा, हाथ, पैर, पेट और पीठ समेत सारा शरीर आग की लपटों में झुलस गया. पुलिस इस मामले में कानून सम्मत कार्रवाई करने में जुट गई है.