Home उत्तराखंड शासनादेशः कलालघाटी अब कण्वघाटी के नाम से जाना जाएगा

शासनादेशः कलालघाटी अब कण्वघाटी के नाम से जाना जाएगा

43
0

संवाददाता
कोटद्वार, 19 दिसंबर।

कोटद्वार के समीप स्थित कलालघाटी को अब कण्वघाटी के नाम से जाना जाएगा। कलालघाटी पौड़ी जिले की तहसील कोटद्वार के समीप स्थित है। उत्तर प्रदेश पुनर्गठन 2000 की धारा 6 के तहत कलालघाटी का नाम बदल कण्वघाटी किया गया है।

ggggooo
शहरी विकास सचिव श्ौलेश बगौली की ओर से इस आशय के आदेश जारी किया गया है। कोटद्वार से लगभग 12 किलोमीटर दूर कण्व ऋषि के नाम पर यहां पौराणिक व ऐतिहासिक कण्वाश्रम है। विश्वामित्र व मेनका की पुत्री शकुंतला के पुत्र भरत का जन्म यहीं मालन नदी के किनारे हुआ था। हस्तिनापुर राजा दुष्यंत और शकुंतला के बीच प्रेम इसी स्थान पर हुआ था।
पूर्ववर्ती सरकारों ने इस इलाके को पर्यटक स्थल के तौर पर विकसित करने की बात तो कही लेकिन अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। भरत के नाम पर ही देश का नाम भारतवर्ष पड़ा। पुरातत्व विभाग को इस इलाके से मूर्तियां व ऐतिहासिक वस्तुएं मिलने की घटनाएं भी चर्चा में आई थी।