Home Home जुनून-ए-इश्क: पहली ही रात को  ससुराल से भाग आई दुल्हन, प्रेमी के...

जुनून-ए-इश्क: पहली ही रात को  ससुराल से भाग आई दुल्हन, प्रेमी के साथ झूल गई फांसी पर

234
0

प्रतीकात्मक फोटो

संवाद सूत्र

नयी दिल्ली, 15 मार्च।

प्यार में प्रेमी जोड़ों की एक साथ जीने-मरने की बातें कहने-सुनने में जितनी आसान लगती हैं, हकीकत में उतनी ही अधिक मुस्किल, बल्कि नामुमकिन भी लगती हैं। लेकिन नाटकीयता, दिखावा और मतलबपरस्ती के लिए बदनाम आधुनिक प्रेम में भी ऐसे सिरफिरे प्रेमियों की कमी नहीं जो एक साथ जीने में असमर्थ होने पर एक साथ मौत को गले लगा लेते हैं। सुरेश और पूजा नाम के दो प्रेमियों ने नादानी ही सही, पर ये कर के दिखा दिया। मामला राजस्थान के सीकर जिले का है, जहां एक नई नवेली दुल्हन ने ससुराल से भाग कर अपने प्रेमी के साथ पेड़ से फंदा लगाकर जान दे दी।


जानकारी के अनुसार, सीकर जिले के नेछवा थाना इलाके की ढाणी कृपाराम में पूजा बलाई का सुरेश नायक के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। पूजा और सुरेश दोनों एक साथ पढ़ते थे। इसी दौरान पूजा और सुरेश की आपस में दोस्ती हो गई जो प्यार में बदल गई । पूरे इलाके में उनके प्यार के चर्चे  होने लगे।  पूजा के परिवार को इसकी जानकारी हुई तो समाज में बदनामी के डर से उन्होंने 11 दिन पहले उसकी शादी 3 किमी. दूर तिड़ोकी बड़ी गांव में रहने वाले रामस्वरूप के साथ कर दी। लेकिन पूजा को यह शादी मंजूर नहीं थी। और वह रात्रि में अपनी ससुराल में बिना किसी को बताए पैदल ही वहां से भाग आई और अपने प्रेमी सुरेश से उसके खेत में मिली। वहां पर उन्होंने कपड़े से रस्सी बनाई और पेड़ में फांसी का फंदा बनाकर दोनों एक दूसरे के साथ झूल गए और अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

रात में पूजा के पति रामस्वरूप ने उसके गायब होने के बारे में अपने घरवालों को बताया। पूजा के ससुराल वालों ने उसके पिता और भाई को फोन कर उसके गायब होने की सूचना दी। इसके बाद घरवालों ने उसकी तलाश शुरु की तो दोनों सुरेश के खेत में एक कपड़े की रस्सी से झूलते हुए मिले। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शव उतारकर पोस्टमार्टम करवाकर उनके परिजनों को सौंप दिए। इस घटना के बाद से मृतकों के प्यार और मौत की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है। लेकिन कोई इसे सच्चे प्रेम के लिए दिया गया बलिदान बता रहा है तो कोई सिर्फ नादानी।