Home उत्तराखंड जयहिंद: उत्तराखंड के सपूत हवलदार हयात सिंह महर शहीद, मणिपुर में थे...

जयहिंद: उत्तराखंड के सपूत हवलदार हयात सिंह महर शहीद, मणिपुर में थे तैनात

145
0

संवाददाता
रुद्रपुर, 22 जुलाई।

उत्तराखंड का एक और वीर सपूत देश की सेवा करते हुए शहीद हो गया है।  खबर है कि मणिपुर में तैनात असम राइफल के हवलदार हयात सिंह महर का  ड्यूटी करने के दौरान उल्फा उग्रवादियों ने अपहरण कर लिया था। काफी खोजबीन के बाद उनका पार्थिव शरीर  क्षत-विक्षत  हालत में बरामद हुआ। शहीद हवलदार हयात सिंह महर  ऊधमसिंह नगर जिले के खटीमा के रहने वाले थे। असम राइफल्स में हवलदार के पद पर इन दिनों मणिपुर में तैनात थे। उनकी शहादत की खबर से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।

बुधवार को जैसे ही शहीद हयात सिंह महर का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पहुंचा, शोकाकुल परिजनों का दुःख आंसुओं के सैलाब में बदल गया। गमहीन माहौल में रोते-बिलखते परिजनों का हृदयविदारक दृश्य देखकर वहां मौजूद हर शख्स की आंखें नम हो गईं। परिजनों के अंतिम दर्शनों के बाद शहीद महर का अंतिम संस्कार पूरे सैन्य सम्मान के साथ बनबसा स्थित शारदा घाट पर किया गया। जानकारी के अनुसार, मूल रूप से पिथौरागढ़ जिले की डीडीहाट तहसील के ग्राम जमतड़ निवासी हयात सिंह महर पुत्र स्व. त्रिलोक सिंह का परिवार वर्तमान में ऊधमसिंहनगर जिले की खटीमा तहसील के झनकट की डिफेंस कॉलोनी में रहता है। शहीद हयात सिंह महर 31 असम राइफल्स में हवलदार के पद पर कार्यरत थे। वर्तमान में उनकी पोस्टिंग मणिपुर में थी, जहां गत 12 जुलाई को उल्फा उग्रवादियों ने उनका अपहरण कर लिया था‌। काफी खोजबीन के बाद सेना के जवानों को 16 जुलाई को उनका पार्थिव शरीर बरामद हुआ था। इसकी सूचना सेना के अधिकारियों द्वारा उनके परिजनों को दी गई। शहीद हवलदार अपने पीछे पत्नी चंद्रा महर, पुत्री रेखा व पुत्र अमित सिंह महर सहित समूचे परिवार को रोते-बिलखते छोड़ गए हैं।