Home उत्तराखंड अभद्र: भाजपा विधायक ने शुगर मिल अधिकारी को दी गाली, ऑडियो वायरल

अभद्र: भाजपा विधायक ने शुगर मिल अधिकारी को दी गाली, ऑडियो वायरल

91
0

संवाददाता
देहरादून, 11 जनवरी।

भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के बिगड़े बोल इन दिनों पार्टी की छवि धूमिल करने में लगे हुए हैं। एक तरफ जहां कुछ दिनों पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत की जुबान फिसल गई थी तो वहीं अब भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल ने एक अधिकारी को गाली दे डाली है, जिसका ऑडियो वायरल हो रहा है। हालांकि अब तक इस ऑडियो की पुष्टि नहीं की जा सकी है।
अभी कुछ दिनों पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता डा. इंदिरा हृदयेश के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी कर दी थी, जिसका जबरदस्त विरोध कांग्रेस ने किया था। यहां तक कि स्वयं भाजपा भी इस मामले में असहज हो गई थी और मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने स्वयं आगे बढ़ कर डा. हृदयेश से माफी मांगी थी। सीएम ने इस माफी के जरिए डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश की थी। अभी यह प्रकरण ठंडा भी नहीं हुआ है और अब भाजपा विधायक ने एक और बखेड़ा खड़ा कर दिया है।
सोशल मीडिया में वायरल हो रहे एक ऑडियो के अनुसार फोन करते हुए दूसरी ओर से शुगर मिल अधिकारी को कहा जा रहा है कि तुम्हारे पास मेरा नंबर नहीं है क्या, जो फोन उठाने में इतनी देर लगा रहे हो। अधिकारी द्वारा जब फोन नंबर नहीं होने और फोन करने वाले से पूछा कि आप कौन बोल रहे हो तो इस पर दूसरी तरफ से गालीगलौज के साथ जवाब दिया गया कि देशराज कर्णवाल बोल रहा हूं, तू क्षेत्रीय विधायक को नहीं जानता है क्या।
इस ऑडियो में शुगर मिल अधिकारी द्वारा फोन पर विधायक को पहचाने जाने से इंकार करने पर विधायक देशराज कर्णवाल इस कदर भड़क गये कि वे फोन पर ही जोर-जोर से अमर्यादित भाषा पर उतर आये। अधिकारी द्वारा क्षेत्रीय विधायक को पहचानने से इंकार करने पर आगबबूला विधायक ने शुगर मिल अधिकारी से गाली-गलौज करने और शुगर मिल पहुंचने की बात कही है। वहीं शुगर मिल अधिकारी ने भी उन्हें बेहद शांत भाव से कहा कि आ जाओ।
विदित हो कि इससे पहले भी देशराज कर्णवाल आरएसएस प्रचारक नीरज शर्मा के साथ भी अभद्रता कर चुके हैं और उसका भी ऑडियो वायरल हो गया था। संगठन की ओर से तब विधायक को नोटिस भी दिया गया था। इतना ही नहीं इससे पहले भी भाजपा के अन्य विधायक भी इस तरह से अमर्यादित तरीके से कभी किसी अधिकारी, छात्र संगठन के नेताओं पर भी गरजते हुए सुनाई दिए हैं हालांकि संगठन द्वारा बाद में किसी न किसी तरीके से मामले को शांत करा दिया जाता है।