महंगाई: उपभोक्ताओं को फिर रुलाने लगा है प्याज

    165
    0
    पैसे की तंगी से पहले से ही परेशान लोगों के लिए सब्जियों के दामों में वृद्धि ने कोढ़ में खाज का काम किया है।

    इस त्यौहारी सीजन में प्याज की फुटकर कीमतें 100 रुपए के करीब तो आलू का भाव 50 रुपए प्रति किलो हो गया है। फुटकर में लहसुन 170 रुपए प्रति किलो और हरी सब्जियां 60 से लेकर 200 रुपए प्रति तक किलो हो गई हैं। हरी मटर इस समय मुंबई के रिटेल बाजार में 200 रुपए किलो पर बिक रही है। ऐसे में आने वाला दिवाली का त्यौहार गरीबों तथा मध्यम वर्गीय परिवारों की रसोई का बजट बिगाड़ सकता है।

    दैनिक भास्कर में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक,  देश के विभिन्न बाजारों से मिली जानकारी के मुताबिक इस साल त्योहारी सीजन में लोग खुलकर खर्च नहीं कर पाएंगे। खाद्य पदार्थों के साथ ही दूसरे अन्य उत्पाद भी महंगे हैं। एक ही दिन में प्याज की कीमतों में जबर्दस्त उछाल आया है। पहले 60 रुपए किलो मिलने वाली प्याज की कीमत मंगलवार को 80 से लेकर 100 रुपए किलो तक पहुंच गई।

    मुंबई में रिटेल में प्याज 100 रुपए किलो के भाव से मिल रहा है, वहीं दिल्ली में एक किलो प्याज की कीमत 70 से 80 रुपए हो गई है। कोलकाता में भी लगभग यही रेट है। चेन्नई में प्याज का खुदरा भाव 70 से लेकर 90 रुपए प्रति किलो पहुंच गया। मंगलवार को दूसरे मैट्रो शहरों के मुकाबले चेन्नई और मुंबई में प्याज सबसे महंगा बिका।

     

    पिछले साल के मुकाबले इस साल महंगा है प्याज—
    आजादपुर मंडी, दिल्ली के चेयरमैन आदिल अहमद बताते हैं कि इस सीजन में पहली बार नवरात्र के समय प्याज के भाव बढ़ गए हैं। दिल्ली में प्याज 50 से 60 रुपए प्रति किलो बिका, जो कि पिछले साल 46 रुपए था। कोलकाता में 60 से 70 रुपए प्रति किलो रहा, जो कि पिछले साल 55 रुपए पर था।

    ( श्याम सिंह रावत की फेसबुक पोस्ट)