Home उत्तराखंड नादान:  परिजनों ने डांटा तो घर से भाग गया बालक

नादान:  परिजनों ने डांटा तो घर से भाग गया बालक

140
0

संवाददाता
ऋषिकेश, 29 मई। बच्चों में मोबाइल गेम की लत उनकी मानसिक स्थिति को भी प्रभावित कर रही है। ऐसा ही एक मामला मुनिकीरेती थाना क्षेत्र में सामने आया। मोबाइल पर गेम खेलने के आदी एक बालक को जब स्वजनों ने डांटा तो वह घर छोड़कर भाग गया। पुलिस ने बालक को सकुशल बरामद कर दिया है।
इस मामले में ढालवाला, मुनिकीरेती निवासी रंजीत ने ढालवाला पुलिस चौकी को सूचना दी कि उनका 14 वर्षीय बालक घर में बिना कुछ बताए कहीं चला गया है। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों के जरिये बालक की खोजबीन शुरू की। बालक की तलाश में जुटी पुलिस को ढालवाला के समीप चंद्रभागा नदी में एक बालक घूमता हुआ दिखाई दिया। जब की पहचान 14 वर्षीय गुमशुदा हुए बालक के रूप में की गई। पुलिस में बालक को उसके परिवारजनों के सुपुर्द कर दिया।
थाना प्रभारी निरीक्षक मुनिकीरेती कमल मोहन भंडारी ने बताया कि बालक व उसके स्वजन से पूछताछ करने पर पता चला कि दो वर्ष पूर्व बालक के स्वजन ने उसे एक एंड्रॉयड फोन दिया था। जिसके बाद बालक फोन पर गेम खेलने का आदी हो गया। उसका पढ़ाई से भी ध्यान भटक गया। घर में जब भी उसे मोबाइल पर गेम खेलने से मना किया जाता तो वह नाराज हो जाता। बीते रोज भी जब स्वजन ने उसे मोबाइल पर गेम खेलने के लिए मना किया, जिससे वह नाराज होकर घर से चला गया। गनीमत रही कि पुलिस में तत्परता दिखाते हुए कुछ ही समय मे बालक को सकुशल ढूंढ निकाला।