Home उत्तराखंड नाराजगी: राज्यपाल ने रेडक्रॉस को दी कार्यप्रणाली सुधारने की नसीहत

नाराजगी: राज्यपाल ने रेडक्रॉस को दी कार्यप्रणाली सुधारने की नसीहत

138
0

रेडक्रास प्रबंध समिति के अध्यक्षों की बिना सूचना अनुपस्थिति पर कारण बताओ नोटिस

संवाददाता

देहरादून, 08 अप्रैल।

राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने गुरूवार को राजभवन ऑडिटोरियम में भारतीय रेडक्रास समिति की राज्य शाखा की बैठक की अध्यक्षता की। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने प्रदेश में रेडक्रास की कार्यप्रणाली को और अधिक सुधारने की नसीहत दी। उन्होंने पिछले वर्षों में रेडक्रास में अपेक्षा के अनुसार नये सदस्य नहीं जुड़ने पर भी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने रेडक्रास सदस्यता अभियान में तेजी लाने के निर्देश दिये। राज्यपाल ने कहा कि रेडक्रास की मुख्य शक्ति उसके स्वयंसेवक हैं इसीलिये रेडक्रास से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ा जाय।

राज्यपाल मौर्य ने राज्य शाखा और जनपदीय समितियों को और अधिक समर्पित होकर कार्य करने के निर्देश दिये। जनपदों में रेडक्रास की नियमित बैठकें न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों को प्रतिमाह तथा सभी जिलाधिकारियों को प्रति तीन माह पर बैठक करने के निर्देश दिये। बैठकों का कार्यवृत्त सीधे राजभवन को भेजा जाय। राज्यपाल ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर में रेडक्रास के सदस्यों की भूमिका महत्वपूर्ण है। लोगों में कोविड-19 के बचाव की जागरूकता बढ़ाने के साथ-साथ संक्रमित व्यक्तियों को चिकित्सकीय सहायता प्राप्त करने हेतु सहायता देना भी आवश्यक है।

कहा कि आपदा प्रबन्धन को ध्यान में रखते हुए यूथ रेडक्रास की स्थापना के कार्य को गति प्रदान की जाय। ग्रीष्मकाल में रेडक्राॅस द्वारा जल संरक्षण हेतु जागरूकता अभियान चलाये जायें। लोगों को वर्षा जल संरक्षण हेतु भी जागरूक किया जाय। बागेश्वर के रेडक्रास प्रतिनिधि ने बताया कि जनपद में सरकारी चिकित्सकों द्वारा जेनेरिक दवाएँ नहीं लिखी जाती जिस पर डी.एम से रिपोर्ट मांगने के निर्देश दिये।

बैठक में, कुछ जनपदों के रेडक्रास प्रबंध समिति के अध्यक्षों द्वारा बिना किसी सूचना के अनुपस्थित रहने पर राज्यपाल ने उन्हें कारण बताओ नोटिस देने का निर्देश दिया है। बहुत से जनपदों द्वारा सदस्यता शुल्क का निर्धारित तीस प्रतिशत राज्य शाखा को न भेजने पर भी राज्यपाल ने नाराजगी व्यक्त की।

बैठक में पिछली आम सभा की बैठक का कार्यवृत्त अनुमोदन के लिए रखा गया। वित्तीय वर्ष 19-20 वास्तविक आय व्ययक सभा में रखा गया।   01 अप्रैल, 2019 का अवशेष 1.21 करोड़, 19-20 की आय 38.98 लाख, 19-20 में व्यय 33.27 लाख रूपये बताया गया।

रेडक्रास की सिस्टर शाखा सेंट जान एम्बुलेस के आय-व्ययक में प्रस्तावित आय के लक्ष्य पर स्पष्टीकरण मांगा गया है। कई रेडक्रास समितियों ने राज्यपाल श्रीमती मौर्य द्वारा प्रदेश के मोरी, जोशीमठ आदि आपदा ग्रस्त एवं दूरस्थ हिस्सों में विवेकाधीन कोष एवं अन्य स्रोतों से प्रेषित राहत सामाग्री हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया।

बैठक में सचिव स्वास्थ्य डा. पंकज पाण्डे, सचिव राज्यपाल बृजेश संत, डीएम देहरादून डा. आशीष श्रीवास्तव, अपर सचिव राज्यपाल जितेन्द्र सोनकर, रेडक्रास राज्य शाखा के चेयरमैन श्री कुन्दन सिंह टोलिया, महासचिव डा. एम.एस अंसारी आदि उपस्थित थे।