Home उत्तराखंड खौफनाक: जिंदगी की सलामती मांगने जा रहा था मंदिर, हाथी ने पटक-पटक...

खौफनाक: जिंदगी की सलामती मांगने जा रहा था मंदिर, हाथी ने पटक-पटक कर ले ली जान

201
0

संंवाददाता
ऋषिकेश, 06 मार्च।

अपनी और अपने परिवार की खुशहाली की कामना लेकर मंदिर में भगवान के दर्शन करने जा रहे उस अभागे को जरा भी अंदाजा नहीं रहा होगा कि रास्ते में यमराज उसका इंतज़ार कर रहे हैं।  गजराज के रूप में सामने खड़े यमराज से अचानक सामना हुआ तो बढ़ते कदमों के साथ सांसें भी थम गईं। गुस्साए गजराज ने शनिवार को एक और इंसान की जान ले ली। हादसा गंगा पार यमकेश्वर क्षेत्र के नीलकंठ मार्ग पर हुआ। जानकारी के मुताबिक, शनिवार की सुबह नीलकंठ महादेव मंदिर में दर्शन करने पैदल जा रहे एक श्रद्धालु को हाथी ने पटक- पटक कर मौत के घाट उतार दिया। सूचना मिलने पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए एम्स ऋषिकेश भेज दिया है।

  गौरतलब है कि शिवालिक पहाड़ियों से घिरेे  यमकेश्वर  ब्लॉक (पौड़ी गढ़वाल) के जंगलों से लगे क्षेत्रों  में जंगली हाथियों का आतंक बढ़़ता जा रहा हैै। यहां एक माह के भीतर  दो लोगों को जंगली हाथियों के हमले में अपनी जान गंवानी पड़ी है। शनिवार की सुबह भी नीलकंठ महादेव मंदिर दर्शन के लिए जा रहे एक व्यक्ति को हाथी ने पटक-पटक कर मौत के घाट उतार दिया। मृतक बुलंदशहर का रहने वाला बताया जा रहा है। गौहरी रेंज के वन क्षेत्राधिकारी धीर सिंह ने बताया कि यह घटना चैरासी कुटिया के पास बाघखाले की है। वन क्षेत्राधिकारी धीर सिंह ने बताया कि लोगों से लगातार  अपील की जा रही है कि अंधेरे में इस सड़क पर आवाजाही न करें। क्योंकि यहां पर जंगली जानवरों का मूवमेंट जारी रहता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि क्षेत्र में लोगों  के साथ-साथ जंगली जानवरों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए गश्ती दल तैनात किया गया है और उसे लगातार गश्त करने के आदेश दिए गए हैं। इस हादसे  के    बाद से लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है।