Home उत्तराखंड पर्दाफाश: 24 घंटों के भीतर हत्या का खुलासा , दोस्त ही निकला...

पर्दाफाश: 24 घंटों के भीतर हत्या का खुलासा , दोस्त ही निकला रवि रावत का कातिल

168
0

संंवाददाता
रुड़की, 12 मार्च।

अपनी सूझ-बूझ और दिमागी कसरत के दम पर पुलिस ने  भारतनगर में हुई युवक की हत्या का 24 घंटों के भीतर खुलासा कर दिया। हत्या के आरोप में पुलिस द्वारा मृतक के दोस्त को गिरफ्तार किया गया है मृतक द्वारा स्मेक के पैसे मांगे जाने पर के बाद गुस्साए दोस्त ने रवि की हत्या कर दी थी।

घटना का खुलासा करते हुए एसपी देहात परमिंदर डोभाल ने बताया कि गुरुवार 11 मार्च सुबह भारत नगर में एक शव बरामद हुआ था जिसका चेहरा ईंटो से कुचला हुआ था। मृतक की शिनाख्त उसके परिजनों द्वारा गले में पड़ी सोने की चैन से की गई थी जिसे रवि रावत पुत्र जमन सिंह रावत के रूप में पहचाना गया पुलिस ने घटना के खुलासे के लिए टीम का गठन किया गया।
एसपी देहात ने बताया कि मृतक के पास कोई फोन नहीं था इसलिए उसके बारे में मैनुअल जानकारी जुटाई गई और पता किया गया कि वह किस किस के साथ घूमता फिरता था। जानकारी प्राप्त हुई कि आजकल वह सुरेंद्र एरी नाम के युवक के साथ घूम रहा था। पुलिस ने आरोपी के घर दबिश दी लेकिन वह घर पर नहीं मिला। देर रात उसके घर आने की सूचना पुलिस को मिली तो फिर से पुलिस ने दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने पुलिस पूछताछ में बताया कि मृतक रवि दबंग प्रवृत्ति का था और पहले जेल जा चुका था।
आरोपी ने बताया कि वे दोनों साथ में नशा करते थे और उसकी स्मेक का खर्चा भी रवि उठाया करता था। आरोपी युवक ने बताया कि 10 मार्च की सुबह वह दोनों रवि की कार से ढंडेरा से निकले और दिन भर घूमते रहे। इस दौरान वह लोग रामपुर चुंगी होते हुए इकबालपुर और भगवानपुर की तरफ गए और मृतक रवि रावत ने किसी दोस्त के माध्यम से स्मेक की व्यवस्था की। दोनों ने जमकर नशा किया। सुरेंद्र ने बताया कि इस दौरान रवि ने उसका फोन छीन लिया और कहने लगा कि जब वह उसे स्मेक के पैसे दे देगा, तब उसका फोन वापस करेगा।
सुरेंद्र के अनुसार, उसने मृतक की बहुत खुशामद की। तब तक काफी रात भी हो चुकी थी। सुरेंद्र रवि से बार-बार फोन मांगता रहा लेकिन रवि ने फोन देने से मना कर दिया। सुरेंद्र के अनुसार, इस दौरान रवि ने उसके सिर पर ईंट मार दी। सुरेंद्र का कहना है कि उसे गुस्सा आ गया और उसने भी एक खाली प्लॉट के पास से ईंट उठाकर रवि के सिर पर मार कर उसे गिरा दिया। घायल रवि ने जब उसे धमकी दी तो सुरेंद्र ने उसके सिर पर ईंट से ताबड़तोड़ वार किए। सुरेंद्र ने रवि की कार का ड्राइविंग साइड का शीशा भी तोड़ दिया और अपने खून से सने कपड़े उतार कर घर के पीछे छुपा दिए।
पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में पेश किया।  वहीं, पुलिस कप्तान की ओर से 24 घंटे के अंदर घटना का खुलासा करने वाली टीम को ढाई हजार का इनाम देने की घोषणा की गई है। आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम में सीओ रुड़की बहादुर सिंह चौहान, कोतवाली प्रभारी राजेश शाह, एसएसआई प्रदीप कुमार, प्रभारी सीआईयू जहांगीर अली, उप निरीक्षक नरेंद्र सिंह, हेड कांस्टेबल पुष्कर सिंह, कांस्टेबल अरविंद, भीम दत्त, अनिल, भारत, बिरेंद्र, संजय तोमर, हेमंत, राहुल धनिक, सुरेश रमोला, जाकिर और रविंद्र खत्री शामिल रहे।