Home उत्तराखंड राजनीति: मंत्रीमंडल विस्तार की अटकलें तेज, अपनी अपनी जुगत लगाने में जुटे...

राजनीति: मंत्रीमंडल विस्तार की अटकलें तेज, अपनी अपनी जुगत लगाने में जुटे दावेदार

163
0

संवाददाता
देहारादून, 24 फरवरी।

दिल्ली दौरे से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के देहरादून लौटते ही बीजेपी में सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। माना जा रहा है कि उत्तराखंड में मंत्रीमंडल के विस्तार को केेंद्र से हरी झंडी मिल गई है। खबर है कि दिल्ली में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा, वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ हुई है। इन मुुलाकातों के दौरान केंद्रीय नेतृत्व ने उत्तराखंड में प्रदेश मंत्रिमंडल के विस्तार को अपनी सहमति दे दी है। पार्टी के भीतर कयास लगाए जा रहे हैं कि केंद्रीय नेताओं की सहमति के बाद अब मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत कभी भी कैबिनेट में खाली सीटों को भर सकते हैं। दिल्ली से देहरादून लौटे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कैबिनेट विस्तार की संभावना से इनकार नहीं किया है ।

गौरतलब है कि प्रदेश में मंत्रिमंडल गठन के समय से ही मंत्रियों के 2 पद खाली चल रहे हैं। पूर्व कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत के निधन के बाद मंत्रियों के खाली पदों की संख्या बढ़कर 3 हो गई है। भाजपा कोर कमेटी की बैठक में कैबिनेट विस्तार मुख्यमंत्री के विवेक पर छोड़ दिया गया है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ हुई बैठक में उत्तराखंड में मंत्रिमंडल के विस्तार को हरी झंडी मिल गई है। इसके बाद से उत्तराखंड बीजेपी में मंत्री पद के दावेदार खासे सक्रिय हो गए हैं। मंत्री पद पाने के सभी अपनी अपनी पहुंच का जुगाड़ लगाने में जुट गए हैं। इनके अलावा बीजेपी में लालबत्ती के तलबगार नेताओं की भी लंबी फेहरिस्त है। अब देखने वाली बात होगी कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत सबको खुश रखने की इस प्रबंधकीय चुनौती से कैसे निपटते हैं।